स्वयंसेवा की शक्ति: एजुकेट गर्ल्स के 18,000 से अधिक स्वयंसेवकों ने 2007 से 12 लाख लड़कियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया

एजुकेट गर्ल्स के स्वयंसेवकों का कमाल:  18,000 से ज्यादा स्वयंसेवकों ने 15 सालों में 12 लाख लड़कियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया

मुंबई, भारत, 30 नवंबर, 2022 /PRNewswire/ —  ग्रामीण भारत में लड़कियों की शिक्षा के लिए काम करने वाली गैर-लाभकारी संस्था एजुकेट गर्ल्स इस दिसंबर अपनी 15वीं वर्षगांठ मना रही है। संस्था 2007 से भारत के ग्रामीण और शैक्षिक रूप से पिछड़े इलाकों में स्थायी परिवर्तन लाने के लिए बालिका शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रही है। इस मिशन में संस्था का साथ 18,000 से भी अधिक युवा टीम बालिका (स्वयंसेवक) दे रहे हैं।

Educate Girls has mobilised over 12 lakh out-of-school girls for enrolment since 2007

संस्था स्थानीय सरकार और समुदाय के समर्थन के साथ साझेदारी के माध्यम से यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम करती है कि सभी लड़कियां स्कूल में जाएं और अच्छी तरह से सीखें। पिछले 15 वर्षों में, एजुकेट गर्ल्स ने राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के लगभग 20,000 गांव में नामांकन के लिए 12 लाख से अधिक स्कूल न जाने वाली लड़कियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया है।

एजुकेट गर्ल्स की संस्थापिका और बोर्ड सदस्य सफीना हुसैन ने कहा, “पिछले 15 सालों का सफर हमारे लिए प्रेरणादायक रहा है, इसके लिए हमारी सभी टीम बालिकाओं को बड़ा श्रेय जाता है। उन्होंने जो सफलता हासिल की है, उस पर हमें बहुत गर्व है। हमें टीम बालिकाओं को और भी ज्यादा सशक्त बनाकर यह सुनिश्चित करना होगा कि हर लड़की स्कूल में जाएं और अच्छी तरह से सीखें, ताकि हमारा लक्ष्य प्राप्त हो सके। सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने और समाज में लैंगिक समानता के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए लड़कियों को शिक्षित करने का हमारा प्रयास भारत के लिए महत्वपूर्ण है। हमारे इस सफर को सफल बनाने के लिए मैं सरकार, समुदाय, डोनर्स और हमारे सभी शुभचिंतकों को धन्यवाद देती हूँ।”

5 दिसंबर को एजुकेट गर्ल्स परिवार के लगभग 2,500 कर्मचारी, डोनर्स, सरकारी अधिकारी और 18,000 से अधिक टीम बालिका साथी संस्था के 15 साल के जश्न को मनाने के लिए एक साथ आएंगे। ये समारोह राजस्थान के पाली जिले में शुरू होगा। पाली से ही संस्था ने अपने काम की शुरुआत 2007 में की थी। 1000 से अधिक जेंडर चैंपियन एक साथ 15 कार्यक्रमों में शामिल होंगे और आने वाले वक्त में संस्था के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक नए जोश के साथ नई शुरुआत करेंगे।

एजुकेट गर्ल्स की भविष्य की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताते हुए संस्था के सीईओ महर्षि वैष्णव ने कहा, “इन 15 सालों में एजुकेट गर्ल्स ने जो कुछ हासिल किया है, उसके लिए मैं हमारे फील्ड चैंपियन को सलाम करता हूँ, जिन्होंने लड़कियों को स्कूल वापस लाने के लिए अधिकांश ग्रामीण, दूरस्थ और हाशिए के समुदायों में 1.5 करोड़ घरों तक पहुँचने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। हम अगले कुछ वर्षों में 16 लाख लड़कियों को स्कूल वापस लाने के अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सरकार और समुदायों के साथ सहयोग करने के लिए तत्पर हैं।

एजुकेट गर्ल्स की कम्युनिकेशन टीम के साथ इंटरव्यू के अवसरों और अधिक जानकारी के लिए, 

कृपया संपर्क करें:

Shwetha Kamath

Head – Communications, Educate Girls

Email: shwetha.kamath@educategirls.ngo

Tushar Kulkarni 

Communication Consultant

Email: tusharshaila.kulkarni@educategirls.ngo

Phone: +91-22 48932226

एजुकेट गर्ल्स के बारे में: एजुकेट गर्ल्स एक ग़ैर-लाभकारी संस्था है जो भारत के ग्रामीण और शैक्षिक रूप से पिछड़े इलाकों में बालिकाओं की शिक्षा के लिए समुदायों को प्रेरित करता है। सरकार के साथ साझेदारी में काम करते हुए एजुकेट गर्ल्स वर्तमान में राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के 20,000 से अधिक गांवों में सफलतापूर्वक कार्यरत है। सामुदायिक स्वयंसेवकों की बड़ी संख्या को सहभागी बनाते हुए, एजुकेट गर्ल्स स्कूल से वंचित बालिकाओं की पहचान, नामांकन, और स्कूलों में ठहराव बनाए रखने और सभी बच्चों (दोनों – बालिकाओं और बालकों) के लिए साक्षरता और अंक गणितीय योग्यता में बुनियादी सुधार के लिए मदद करता है । अधिक जानकारी के लिए: www.EducateGirls.ngo

Facebook | LinkedIn | Twitter | Instagram | Blog | YouTube

Photo: https://mma.prnewswire.com/media/1958703/Educate_Girls_15th_Anniversary.jpg

Logo: https://mma.prnewswire.com/media/1958704/Educate_Girls_Anniversary_Logo.jpg

Educate Girls 15th Foundation Day Logo

Disclaimer: The above press release comes to you under an arrangement with PR Newswire. Indiahallabol.com takes no editorial responsibility for the same.

Check Also

BrightNight ने महाराष्ट्र, भारत में विभेदित 100 मेगावाट हाइब्रिड पवन-सौर ऊर्जा परियोजना की घोषणा की

वाणिज्यिक और औद्योगिक ग्राहकों की सेवा के लिए ऑप्टिमा परियोजना   वेस्ट पाम बीच, फ्लोरिडा व गुरुग्राम, भारत, 30 जनवरी, 2023 /PRNewswire/ — BrightNight, अगली पीढ़ी व वैश्विक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *