टाटा संस और न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज ने भारत में वैज्ञानिकों को सम्मानित करने के लिए पुरस्कार की घोषणा की

The Tata Transformation Prize भारतीय वैज्ञानिकों को सामाजिक जरूरतों के समाधान  आर्थिक प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देने वाले अनुसंधान के लिए मान्यता देगा 

मुंबई, भारत, 4 जनवरी, 2023 /PRNewswire/ — टाटा संस और न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज ने भारत में महत्वपूर्ण सामाजिक चुनौतियों के लिए नवीन तकनीकी समाधान विकसित करने वाले होनहार वैज्ञानिकों को पहचानने और उनका समर्थन करने के लिए आज Tata Transformation Prize की घोषणा की।

नया पुरस्कार प्रत्येक वर्ष तीन वैज्ञानिकों को तीन क्षेत्रों -खाद्य सुरक्षा, सततता और स्वास्थ्य सेवा में से प्रत्येक में नवाचारों के लिए प्रदान किया जाएगा। प्रत्येक विजेता को 2 करोड़ रुपये मिलेंगे और उन्हें दिसंबर में भारत में आयोजित एक समारोह में सम्मानित किया जाएगा।

टाटा संस के बोर्ड के अध्यक्ष नटराजन चंद्रशेखरन ने कहा, “यह पुरस्कार भारतीय वैज्ञानिक समुदाय द्वारा महत्वपूर्ण नवाचारों को गति देगा।” “हमें उम्मीद है कि यह पुरस्कार भारतीय वैज्ञानिकों के परिवर्तनकारी काम को सामने लाने में मदद करेगा, उन्हें उचित रूप से पुरस्कृत करेगा, और उन्हें अपने समाधान बाजार में लाने के लिए प्रोत्साहित करेगा। Tata Transformation Prize एक छोटा सा तरीका है जिससे हम भारत की राष्ट्रीय समस्याओं को हल करने के लिए विज्ञान और वैज्ञानिकों को बढ़ावा देंगे।”

पुरस्कार के लिए आवेदकों को डॉक्टरेट की डिग्री, या समकक्ष के साथ सक्रिय शोधकर्ता होना चाहिए, और भारत में किसी पात्र विश्वविद्यालय, संस्थान, या अन्य शोध संगठन द्वारा नियोजित होना चाहिए। आवेदकों को डिजिटल और तकनीकी परिवर्तन पर ध्यान देने के साथ खाद्य सुरक्षा, सततता, या स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियों को संबोधित करने वाली प्रौद्योगिकियों का प्रस्ताव करना होगा। पुरस्कार विजेता वे वैज्ञानिक होंगे जिनके प्रस्तावित नवाचार पारंपरिक प्रथाओं और व्यवसाय मॉडल की पुन: कल्पना करते हैं, तकनीकी प्रतिमानों को बदलते हैं, आम विश्वास को बेहतर बनाते हैं और एक मुक्त व कनेक्टेड दुनिया को बढ़ावा देते हैं।

न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज के अध्यक्ष और सीईओ प्रोफेसर निकोलस डर्क्स, ने कहा, “भारत में पथप्रवर्तक अनुसंधान होता है, जिसके परिणामस्वरूप दुनिया भर में विज्ञान में महत्वपूर्ण प्रगति होती है।” “यह पुरस्कार न केवल विज्ञान, बल्कि उन नवीन खोजों पर केंद्रित है, जो विज्ञान को समाज की बेहतरी के लिए काम करने के लिए, तीन मुख्य क्षेत्रों की प्रमुख वैश्विक चुनौतियों को हल करने के लिए काम करते हैं। हम भारत में वैज्ञानिक और तकनीकी नवाचार का समर्थन करने के लिए टाटा और अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन के साथ काम करके बहुत खुश हैं। यह वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास में भारत की ताकत के बारे में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय जागरूकता भी बढ़ाएगा।” 

Tata Transformation Prize उन प्रमुख पुरस्कारों और छात्रवृत्ति कार्यक्रमों की श्रृंखला में नवीनतम है, जो अकादमी और उसके सहयोगी प्रत्येक वर्ष दुनिया भर के प्रवीण नए और स्थापित वैज्ञानिकों को प्रदान करते हैं। ये पहलें, छात्रों और युवा वैज्ञानिकों के लिए शिक्षा व पेशेवर विकास कार्यक्रमों के साथ-साथ विश्व स्तर पर कुशल तथा प्रतिभाशाली वैज्ञानिकों की कतार को मजबूत करने व विविधता लाने के लिए अकादमी की व्यापक प्रतिबद्धता को दर्शाती हैं।

Tata Transformation Prize के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

टाटा ग्रुप के बारे में 

जमशेदजी टाटा द्वारा 1868 में स्थापित, टाटा ग्रुप भारत में मुख्यालय वाला एक वैश्विक उद्यम है जिसमें दस वर्टिकल में 30 कंपनियां शामिल हैं। यह ग्रुप छह महाद्वीपों में 100 से अधिक देशों में परिचालन करता है, जिसका मिशन है ‘विश्वास के साथ नेतृत्व पर आधारित दीर्घकालिक हितधारक मूल्य निर्माण के माध्यम से वैश्विक स्तर पर जिन समुदायों की हम सेवा करते हैं, उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करना।’

टाटा संस टाटा कंपनियों की प्रवर्तक और प्रमुख निवेश होल्डिंग कंपनी है। टाटा संस की इक्विटी शेयर पूंजी का छियासठ प्रतिशत परोपकारी ट्रस्टों के पास है, जो शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका उत्पादन और कला व संस्कृति का समर्थन करते हैं।

2021-22 में, टाटा कंपनियों का कारोबार कुल मिलाकर 128 बिलियन अमेरिकी डॉलर (9.6 ट्रिलियन रुपये) था। ये कंपनियां सामूहिक रूप से 935,000 से अधिक लोगों को रोजगार देती हैं।

प्रत्येक टाटा कंपनी या उद्यम स्वतंत्र रूप से अपने स्वयं के निदेशक मंडल के मार्गदर्शन और पर्यवेक्षण में काम करता है। 31 मार्च, 2022 तक 29 टाटा उद्यम सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध थे जिनका संयुक्त बाजार पूंजीकरण $311 बिलियन (23.6 ट्रिलियन रुपए) है। टाटा समूह की कंपनियों में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा मोटर्स, टाटा स्टील, टाटा केमिकल्स, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स, टाइटन, टाटा कैपिटल, टाटा पावर, इंडियन होटल्स, टाटा कम्युनिकेशंस, टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स, एयर इंडिया और टाटा डिजिटल शामिल हैं।

THE NEW YORK ACADEMY OF SCIENCES के बारे में 

न्यूयार्क एकेडमी ऑफ साइंसेज एक स्वतंत्र, गैर-लाभकारी संगठन है जो 1817 से समाज के फायदे के लिए विज्ञान को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। 100 देशों में 20,000 से अधिक सदस्यों के साथ, यह एकेडमी वैज्ञानिक व प्रौद्योगिकीय ज्ञान को आगे बढ़ाती है, विज्ञान-आधारित समाधानों के साथ वैश्विक चुनौतियों का समाधान करती है, और एसटीईएम (STEM) व STEM संबंधित क्षेत्रों के लिए सभी स्तरों पर विभिन्न प्रकार की शैक्षिक पहलों को प्रायोजित करती है। यह एकेडमी कार्यक्रमों की मेजबानी करती है और जीव व भौतिक विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, पोषण, कृत्रिम मेधा, कंप्यूटर विज्ञान तथा सततता में सामग्री प्रकाशित करती है। अकादमी, शोधकर्ताओं के लिए उनके करियर के प्रत्येक चरण में पेशेवर तथा शैक्षिक संसाधन भी प्रदान करती है। कृपया हमें ऑनलाइन देखें www.nyas.org

संपादकों के लिए नोट: 

टाटा के अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन और न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज के अध्यक्ष निकोलस डर्क्स की वीडियो सामग्री तक पहुंचने के लिए, कृपया इस लिंक https://vimeo.com/785591166/e87c114a47 से सीधे वीडियो साउंडबाइट और बी-रोल फुटेज डाउनलोड करें।

मीडिया संपर्क:

न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज

कमला मूर्ति

Kmurthy@nyas.org

टाटा संस

हर्षा रामचंद्र

harsha.r@tata.com 

New York Academy of Sciences Logo

वीडियो – https://www.youtube.com/watch?v=5XI75JXXOrw

लोगो –  https://mma.prnewswire.com/media/1976114/TATA_NYAS_Logo.jpg 

Cision View original content:https://www.prnewswire.com/in/news-releases/——————–301713315.html

Disclaimer: The above press release comes to you under an arrangement with PR Newswire. Indiahallabol.com takes no editorial responsibility for the same.

Check Also

DELHIWOOD 2023 – भारतीय वुडवर्किंग और फर्नीचर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग के लिए एक नए युग की शुरूआत

भारतीय वुडवर्किंग और फर्नीचर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग के लिए नवप्रवर्तन का प्रेरक 4-दिन का भव्य आयोजन, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *