पाक की भारत काे चेतावनी

parvej-mussaraf

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा है कि पाकिस्तान की फौज ने न तो चूड़ियां पहन रखी हैं और न ही वह म्यांमार है। उनका कहना है कि म्यांंमार में किए सेना के ऑपरेशन के बाद भारत को इस्लामाबाद के बारे में कोई गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए। पाकिस्तान ने एक आधिकारिक बयान में भी कहा है कि म्यांमार की तुलना में पाकिस्तान अलग है।पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी समेत भारतीय नेताओं द्वारा हाल में दिए गए बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री चौधरी निसार अली खान ने कहा कि पाकिस्तान के सुरक्षा बल किसी भी विदेशी हमले का जवाब देने में पूरी तरह से सक्षम हैं और भारत के नेताओं को दिन में सपने देखना छोड़ देना चाहिए। अपने बयान में आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि पूर्व में भारत के मंसूबे कामयाब रहे होंगे, लेकिन भविष्य में वे ऐसा नहीं कर सकते।

निसार अली खान ने उनका देश म्यांमार की तरह नहीं है और भारत को आगाह किया कि उनका देश सीमा पार से आने वाली धमकियों के आगे घुटने टेकने वाला नहीं है। उनका यह बयान केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि म्यांमार में आतंकियों के खिलाफ की गई सैनिक कार्रवाई दूसरे देशों के लिए संदेश है। खान ने कहा कि भारत को यह स्पष्ट होना चाहिए कि पाकिस्तान म्यांमार की तरह का देश नहीं है। पाक मंत्री ने कहा, जो पाकिस्तान के खिलाफ नापाक इरादे रखते हैं उनको कान खोलकर सुन लेना चाहिए कि हमारे सुरक्षा बल किसी भी दुस्साहस का जवाब देने में सक्षम हैं।

खान ने कहा कि पाकिस्तान कभी भी भारत की दादागीरी स्वीकार नहीं करेगा और भारतीय नेताओं को दिन में सपने देखना छोड़ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत के नापाक इरादे अतीत की तरह भविष्य में सफल नहीं होंगे। पाक के गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान ने चेतावनी दी कि ‘हिंदुस्तानी नेता दिन में ख्वाब देखना बंद करें। हमें म्यांमार समझें। अगर हिमाकत की तो अंजाम भी भुगतना होगा।’ रक्षामंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा , ”ऐसे बयानों से बातचीत का माहौल खराब होगा। अगर भारत ने कोई पहल की तो सबक हम भी सिखा सकते हैं।” पाकिस्तान में विपक्षी नेता इमरान खान ने भी ऐसे ही राग अलापे।

म्यांमार में भारत के ऑपरेशन के बाद पाकिस्तान में इसकी चर्चा जोरों पर है। रावलपिंडी में सेना के हेडक्वाटर्स में आर्मी चीफ जनरल राहील शरीफ ने एक फॉर्मेशन कमांडोज कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया। इसके बाद पाकिस्तान की सेना की ओर से बयान जारी करते हुए कहा गया, ”भारत की शत्रुतापूर्ण कार्रवाई पर हमने सीयिरस नोटिस लिया है, दुश्मनों के खिलाफ बायानबाजी और अपने एक्शनों के जरिए पारकिस्तान को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है।”

गौरबलत है कि मंगलवार को भारतीय सेना ने बड़े सैन्य अभियान को सफलतापूर्वक खत्म करते हुए मणिपुर में हुए उग्रवादी हमले में शामिल दोषियों को उनके ही गढ़ में खत्म कर दिया था। उग्रवादियों के इस हमले में भारत के 18 जवान शहीद हो गए थे।इससे पहले बुधवार को पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा था कि बांग्लादेश के उदय पर दिए गए भारतीय प्रधानमंत्री के बयान को पुराने जख्मों को कुरेदने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि मोदी के बयान से दोनों देशों के बीच बातचीत के माहौल में खटास आ गई है।

Check Also

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी कार्यकर्ताओं को इस्लामाबाद में हकीकी आजादी मार्च के लिए रहना होगा तैयार : इमरान खान

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान ने पार्टी कार्यकर्ताओं को इस्लामाबाद में हकीकी आजादी मार्च …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *