गाजा पट्टी में मीडिया ठिकानों को निशाना बनाने पर इजरायल ने दी सफाई

अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट एंथोनी ब्लिंकेन ने इजरायल से मीडिया संस्थानों का बिल्डिंग पर हमले को लेकर सफाई मांगी है. उन्होंने कहा कि मीडिया संस्थानों की बिल्डिंग को निशाना बनाने के मामले में इजरायल को सफाई देनी चाहिए.

बता दें कि इजरायल ने उस बिल्डिंग को हवाई हमले में पूरी तरह से नेस्तनाबूद कर दिया था, जिसमें एपी न्यूज एजेंसी और अल जजीरा जैसे इंटरनेशनल मीडिया संस्थानों के दफ्तर थे. ये बिल्डिंग गाजा पट्टी में थी.

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इसे एकदम सोच समझकर किया गया परफेक्ट शिकार कहा था. इजरायल ने दावा किया था कि उस बिल्डिंग में हमास की खुफिया विभाग से जुड़ा दफ्तर था और मीडिया संस्थानों की बिल्डिंग से ही इजरायल के खिलाफ लड़ाई लड़ी जा रही थी.

हालांकि अमेरिका इजरायल के इस बयान से असहमत है, इसलिए उसने इजरायल से पूरी जानकारी साझा करने को कहा है.अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट एंथोनी ब्लिंकेन ने दोनों ही पक्षों से नागरिकों को निशाना न बनाने की बात कही है, खास तौर पर बच्चों को.

ब्लिंकेन ने कहा कि अमेरिका दोनों पक्षों के बीच मध्यस्थता को तैयार है, अगर दोनों पक्ष लड़ाई रोकना चाहते हैं तो.इस बीच इजरायल ने गाजा सिटी के अंदर हमास की महत्वपूर्ण सुरंगों को निशाना बनाया है. जिसमें हमास के कई कमांडर ढेर हो सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक इजरायल डिफेंस फोर्सेस के जेट्स ने भारी बमबारी की है, जिसमें हमास की सुरंगों को निशाना बनाया गया है.इजरायली हमले में 15 किलोमीटर लंबी हमास की सुरंग को निशाना बनाया गया, जिसमें कम से कम 9 हमास कमांडरों का ठिकाना था. इजरायली मीडिया के मुताबिक सेना ने हमास के हाई प्रोफाइल कमांडरों को निशाना बनाया है.

हालांकि इजरायल ने मृतकों का कोई आंकड़ा नहीं दिया है. जानकारी के मुताबिक इजरायली एयरफोर्स ने 15 किमी लंबी सुरंग को निशाना बनाने के लिए 44 फाइटर जेट्स का इस्तेमाल किया. और ताबड़तोड़ बम बरसाए. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि उनका देश आतंकियों के खिलाफ पूरी ताकत से हमले करता रहेगा.

Check Also

ईरान के यात्री विमान में बम की धमकी की खबर से अलर्ट पर भारतीय सुरक्षा एजेंसी

भारतीय वायुसेना ने सुबह बम की धमकी के बाद ईरान की राजधानी तेहरान से चीन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *