जल्द ही एक टी20 लीग का हिस्सा बनते दिखाई देंगे उसेन बोल्ट

उसेन बोल्ट जिन्होंने क्रिकेट में अपना करियर बनाने की इच्छा जताई थी और टी20 लीग में क्रिस गेल और आंद्रे रसेल जैसे जमैका के सुपरस्टार के साथ खेलने के इच्छुक थे, अब उनकी इच्छा पूरी होती दिखाई दे रही है।

टी20 क्रिकेट खेलने की बोल्ट की इच्छा को पूरी करते हुए भारत के पहले लाइव डिजिटल स्पोर्ट्स चैनल पावर स्पोट्र्ज ने जमैका के इस दिग्गज से संपर्क किया है, जो जल्द ही एक टी20 लीग का हिस्सा बनते दिखाई देंगे।

पावर स्पोट्र्ज की संस्थापक और प्रधान संपादक कंथी डी सुरेश, जो लीग के अधिकार धारक हैं, वह आयोजन स्थल की पुष्टि करने के लिए उपलब्ध नहीं थीं, लेकिन पता चला है कि यह खाड़ी के देशों में आयोजित किया जा सकता है, जो हाल ही में एक लोकप्रिय क्रिकेट स्थल के रूप में उभरा है।

आठ बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता और 11 बार के विश्व चैंपियन, बोल्ट के पास 100 मीटर में 9:58 सेकंड का वर्तमान में विश्व रिकॉर्ड है, जिसे उन्होंने बर्लिन में आईएएएफ 2009 विश्व चैंपियनशिप में हासिल किया था और वह ट्रैक से सेवानिवृत्त हो गए।

धावक ने कई मौकों पर अपने क्रिकेट कौशल को दिखाने की इच्छा व्यक्त की है।बोल्ट ने यह भी खुलासा किया कि उन्होंने अपने पिता की इच्छा के आगे झुकते हुए ट्रैक और फील्ड को करियर विकल्प के रूप में चुना था, लेकिन क्रिकेट हमेशा उनका पहला प्यार था।

बोल्ट ने सही समय पर क्रिकेट खेलने की रुचि व्यक्त की है, क्योंकि टी20 लीग खाड़ी के देशों और अन्य जगहों पर बढ़ रही है। अगर वह क्रिकेट के मैदान पर अपनी प्रतिभा दिखाना चाहते हैं तो उन्हें क्रिकेट कौशल के साथ दौड़ने के कौशल को भी अपनाना होगा।

बोल्ट के लिए यह आसान नहीं होगा, क्योंकि बड़े-बड़े अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों की क्षमता के बराबर खेलना, वास्तव में उनके लिए कठिन काम है।यह भी देखना होगा कि बोल्ट क्या बनना पसंद करते हैं बल्लेबाज या गेंदबाज।

वह अपने लंबे कद के साथ एक महान तेज गेंदबाज बन सकते हैं या वह एक मूल्यवान बल्लेबाज हो सकते हैं, जो बड़े-बड़े छक्के लगाए।लेकिन जब वह मैदान में उतरेंगे तो सभी की निगाहें ‘बोल्ट द रनर’ पर होंगी।

क्या वह महेंद्र सिंह धोनी से तेज होंगे, जिन्हें खेल में सबसे तेज धावकों में से एक माना जाता है। धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टी20 मैच में दो रन पूरे करने के लिए 31 किमी/घंटा की रफ्तार से दौड़ लगाई थी।

अगर बोल्ट को 9:58 सेकेंड के अपने शीर्ष रिकॉर्ड से दौड़ना होता, तो वह इसे 38 किमी/घंटा की रफ्तार से पूरा करते।यह तो वक्त ही बताएगा कि क्या बोल्ट पिच पर धोनी की गति की बराबरी कर पाते हैं या नहीं।

हाल के दिनों में खाड़ी के देशों में कई लीगों की घोषणा की गई है, जिसमें अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने एक टी20 लीग कराने पर भी विचार किया है।सऊदी अरब, जिसकी सबसे बड़ी प्रवासी आबादी है। वही भी क्रिकेट को लोकप्रिय बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

कतर जो अगले साल फीफा विश्व कप की मेजबानी करेगा। यहां भारतीय राजदूत डॉ. दीपक मित्तल ने हाल ही में एक बातचीत के दौरान, प्रमुख उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला की उपस्थिति में कहा हम यहां कतर में क्रिकेट लीग कराने पर भी काम कर रहे हैं।

कतर सुप्रीम कमेटी के महासचिव हसन अल थवाडी ने कहा है कि 2010 के बाद से बुनियादी ढांचे पर कतर का खर्च, नई मेट्रो प्रणाली पर 200 बिलियन डॉलर का अनुमान है और विश्व कप की प्रत्यक्ष लागत करीब 6.5 बिलियन डॉलर है।

Check Also

विश्व टेबल टेनिस चैंपियनशिप के ग्रुप चरण में भारत ने जर्मनी को 3-1 से हराकर किया उलटफेर

भारत ने विश्व टेबल टेनिस चैंपियनशिप के ग्रुप चरण में दूसरी वरीय जर्मनी को 3-1 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *