अब महाराष्ट्र में भी रुका 18+ वालों का कोरोना वैक्सीनेशन

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रदेश में जारी कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर अहम बयान दिया है. सीएम ठाकरे ने कहा राज्य में वैक्सीन की किल्लत और आपूर्ति की रफ्तार की वजह से सरकार ने 18 साल की उम्र से 44 साल तक के एज ग्रुप वालों के लिए शुरू हुआ टीकाकरण अभियान रोक दिया है.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ये भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जून में वैक्सीन की आपूर्ति में तेजी आएगी तब प्रदेश में चौबीसों घंटे टीकाकरण अभियान तेज रफ्तार से चलाया जाएगा. गौरतलब है कि आज मुंबई में सभी वैक्सीन केंद्र बंद रहे.

बीएमसी ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी थी. महाराष्ट्र सरकार लगातार सूबे में टीकों की कमी को लेकर केंद्र सरकार पर सवाल उठा रही है.गौरतलब है कि वैक्‍सीन की कमी के चलते 22 मई को दिल्‍ली में 18 से 44 साल के आयु वर्ग वाले लोगों के लिए टीकाकरण रोक दिया गया था.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि केंद्र सरकार से आवंटित कोरोना वैक्सीन खत्‍म हो गईं हैं इसलिए टीकाकरण बंद करना पड़ा है. सीएम ने केंद्र से हर फार्मा कंपनी को वैक्सीन बनाने की इजाजत देने की अपील भी की थी.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को प्रदेश में बच्चों के डॉक्टर्स से बात करते हुए ये जानकारी साझा की है. सीएम उद्धव ठाकरे और स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे कई बार कह चुके हैं कि प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर रोकने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी चल रही है.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक होगी ऐसे दावों के बीच महाराष्ट्र में अतिरिक्त इंतजाम किए जाने की जानकारी कई बार साझा की गई है.धारावी जैसे सघन आबादी वाले इलाकों में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार साधने में उठाए गए फैसलों की तारीफ देश भर में हो चुकी है.

इससे उत्साहित महाराष्ट्र सरकार कह चुकी है कि तीसरी लहर में किसी को भी ऑक्सीजन के लिए भटकना न पड़े इसके लिए राज्य में पहले से अनुमानित ऑक्सीजन की जरूरत के पूर्वानुमान के हिसाब से ऑक्सीजन उत्पादन बढ़ाने पर काम शुरू हो चुका है.आपको बता दें कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों कोरोना के 26 हजार 133 नए मामले आए हैं जबकि संक्रमण से 682 लोगों की मौत हुई है.

स्वास्थ्य विभाग के हालिया आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में अभी तक कुल 55,53,225 लोगों के संक्रमित होने और कोरोना वायरस संक्रमण से 87,300 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है. वहीं 40,294 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही महाराष्ट्र में ठीक हुए लोगों की संख्या बढ़कर 51,11,095 पहुंच गई है.

Check Also

आरबीआई ने सभी क्रेडिट सूचना कंपनियों को दिया एक आंतरिक लोकपाल नियुक्त करने का निर्देश

आरबीआई ने सभी क्रेडिट सूचना कंपनियों को 1 अप्रैल, 2023 तक एक आंतरिक लोकपाल नियुक्त करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *