भारत के खिलाफ केमिकल वॉर की तैयारी में आतंकी

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल नवीद मुख्तार और पाकिस्तानी सेना के प्रतिनिधि ने पिछले महीने आतंकवादियों से मुलाकात करके जैविक युद्ध के बारे में चर्चा की थी। टीवी चैनल ने खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि नौ अक्टूबर को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बाग़ जिले में ये मुलाकात हुई थी।

नवीद मुख्तार से मिलने वालों में हिज्बुल मुजाहिद्दीन और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शामिल थे।  इस बैठक में नवीद मुख्तार के अलावा आईएसआई के तीन और अफसर ब्रिगेडियर हाफिज अहमद, लेफ्टिनेंट कर्नल जावेद अहमद और मेजर जफर अली शामिल थे। बैठक में पाकिस्तानी सेना की तरफ से कैप्टन मंसूर अली शामिल थे।

बैठक में हिज्बुल का दुर्दांत आतंकी जुड्डा खान और जैश का खतरनाक आतंकवादी जावेद अख्तर भी शामिल थे।दावे के अनुसार आईएसआई प्रमुख नवीद ने आतंकवादियों से कहा कि ठंड बढ़ने से पहले ही उन्हें जम्मू-कश्मीर में अपनी स्थिति मजबूत करनी है और उन्हें पर्याप्त आर्थिक संसाधन दिए जाएंगे। ठंड में बर्फबारी के कारण जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ मुश्किल हो जाती है।

भारतीय खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में कहा गया है कि आईएसआई चीफ ने आतंकवादियों को पैसे देने का जिम्मा बैठक में शामिल पाकिस्तानी सेना के अफसर को दिया। आतंकवादियों को ठंड और बर्फबारी से पहले ही भारत में घुसपैठियों को घुसा देने का आदेश दिया। रिपोर्ट के अनुसार आईएसआई प्रमुख ने कश्मीर में निष्क्रिय आतंकवादियों को भी सक्रिय हो जाने का आदेश दिया।

रिपोर्ट के अनुसार इस बैठक में आईएसआई प्रमुख ने रासायनिक युद्ध के लिए चीन में प्रशिक्षित पाकिस्तानी अफसरों को भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर तैनात करने की संभावना पर भी विचार-विमर्श किया। खुफिया रिपोर्ट के हवाले से चैनल ने दावा किया है कि पाकिस्तानी सेना के 20 अफसर चीन में रासायनिक युद्ध की ट्रेनिंग ले रहे हैं।

Check Also

सलमान खान को मिली कड़ी सजा को लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा है कि सलमान खान को 5 साल की सजा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *