हाफिज सईद पर शिकंजा कसेगा पाकिस्तान

पाकिस्तानी सरकार आतंकी हाफिज सईद पर शिकंजा कसने की योजना बना रही है। हाफिज की चैरिटीज और फाइनेंशियल एसेट्स को पाक सरकार अपने कब्जे में लेने जा रही है। प्रोविंशियल गवर्मेंट और डिपार्टमेंट्स को भेजे गए अपने सीक्रेट ऑर्डर में सरकार ने इस प्लान का जिक्र किया है। बता दें कि अमेरिका ने हाफिज सईद को आतंकी घोषित किया है।

इसके अलावा उससे जुड़े संगठन जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत को भी टेररिस्ट फ्रंट्स की कैटेगरी में रखा है।न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, 19 दिसंबर को फाइनेंस मिनिस्ट्री ने लॉ एनफोर्समेंट और पाकिस्तान की 5 प्रांतों की सरकार से सईद की प्रॉपर्टी को अधिकार में लेने के लिए एक्शन प्लान मांगे थे।

19 दिसंबर के इन डॉक्युमेंट्स को ‘फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स इश्यूज’(FATF) को रिफर किया गया है। इनमें सईद की दोनों चैरिटीज के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही गई है।बता दें कि FATF मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फाइनेंसिंग जैसे मामलों से निपटने वाली एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है। आतंकियों को पैसे मुहैया कराने के लिए पाकिस्तान को इस संस्था से वॉर्निंग मिल चुकी है।

अगर पाकिस्तान सरकार इस प्लान पर अमल करती है तो ये हाफिज सईद के नेटवर्क पर सरकार का पहला बड़ा एक्शन होगा। जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन के पाकिस्तान में करीब 300 मदरसे और स्कूल हैं। इसके अलावा कई हॉस्पिटल, पब्लिशिंग हाउस और एंबुलेस सर्विस भी चलती हैं। 

पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक, दोनों संगठनों के साथ करीब 50 हजार से ज्यादा वॉलंटियर्स और पेड वर्कर्स जुड़े हैं।पाकिस्तान के इंटीरियर मिनिस्टर अहसान इकबाल के मुताबिक, उन्होंने सभी अधिकारियों से आतंकी संगठनों के लेन-देन और फंडिंग को खत्म करने के लिए कहा है। 

न्यूज एजेंसी को दिए लिखित जवाब में इकबाल ने कहा कि आतंकियों के खिलाफ एक्शन अमेरिका के दबाव में नहीं लिए गए हैं। हम किसी को खुश नहीं कर रहे। हम एक जिम्मेदार देश की तरह अपने लोगों और इंटरनेशनल कम्युनिटी के लिए काम कर रहे हैं।

सईद मुंबई में नवंबर 2008 में किए गए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। इस हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी।उसे यूनाइटेड नेशंस ने यूएन सिक्युरिटी काउंसिल रिजोल्यूशन 1267 के तहत दिसंबर 2008 में ब्लैक लिस्टेड किया था।हाफिज सईद आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का चीफ है।

ये एक दूसरे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का को-फाउंडर भी है। इन दोनों संगठनों का भारत में कई आतंकी हमलों में हाथ पाया गया है। हाफिज के सिर पर अमेरिका ने 1 करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है। इसके खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी हो चुका है। 

पाक सरकार ने हाफिज का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ECL) में भी शामिल किया है। यानी यह पाक छोड़कर नहीं जा सकता। पाकिस्तान ने हाफिज सईद को आतंकी भी माना है। पंजाब प्रोविन्स की सरकार ने सईद का नाम एंटी-टेररिज्म एक्ट (ATA) के 4th शेड्यूल में शामिल कर रखा है।

Check Also

पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ जारी किया फतवा

पाकिस्तानी सरकार ने 1800 से अधिक इस्लामिक विद्वानों के दस्तखत से धार्मिक उद्देश्य के लिये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *