संघर्षविराम उल्लंघन के लिए भारत जिम्मेदार : पाक सेना

पाकिस्तानी सेना ने संघर्षविराम उल्लंघन के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है। आरोप लगाया कि भारत ने इस साल सीमा पर 1077 बार गोलाबारी की। जनरल गफूर ने कहा कि अमन कायम करने की उनकी इच्छा को कमजोरी न समझा जाए। भारत और पाक परमाणु शक्ति से लैस हैं। हमारे बीच युद्ध की कोई गुंजाइश नहीं है।

बता दें कि पाकिस्तान लगातार भारत के रिहायशी इलाके में गोले दाग रहा है। शनिवार को ही बीएसएफ के 2 जवान शहीद हुए थे।पाकिस्तानी सेना के मीडिया विंग प्रमुख जनरल गफूर ने संघर्षविराम तोड़ने के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया। आरोप लगाया कि भारत ने इस साल 1077 बार सीमा पर गोलाबारी की। अमन कायम रखने की हमारी इच्छा को कमजोरी के तौर पर नहीं लेना चाहिए।

पाकिस्तान के स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, भारत की ओर से शनिवार को हुई गोलाबारी में 2 लोगों की मौत हो गई थी। 24 अन्य जख्मी हुए हैं।गफूर ने कहा भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध तभी हो सकता है जब हमारी कूटनीति नाकाम हो जाए। दोनों देश द्विपक्षीय मुद्दों पर सम्पर्क में रहे, पर भारत बातचीत से पीछे हट गया।

अब भारत को फैसला करना है कि वह किस दिशा में आगे बढ़ना चाहता है। दोनों देश परमाणु शक्ति के लैस हैं, इसलिए युद्ध की कोई गुंजाइश नहीं है।गफूर ने कहा पाकिस्तान ने पिछले हफ्ते दोनों देशों के बीच संघर्षविराम समझौते पर अमल करने को लेकर भारत की गोलाबारी का जवाब नहीं दिया। लेकिन जब हमारे नागरिकों को निशाना बनाया गया, तो हमने जवाबी कार्रवाई की।

अगर पहली गोली भारत की ओर से चलती है और उससे कोई नुकसान नहीं होता है, तो हम जवाब नहीं देंगे।बता दें कि पाकिस्तान की ओर से शनिवार और रविवार को की गई फायरिंग में 2 जवानों की मौत हो गई थी। 16 से ज्यादा नागरिक घायल हो गए थे।भारतीय सेना के मुताबिक, पाक ने इस साल 908 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है, जिसमें सेना के 20 जवानों समेत 45 लोगों की जान जा चुकी है। 2017 में पाकिस्तान ने 869 बार सीमा पर गोलाबारी की थी।

Check Also

पाकिस्तान में तूफान और बाढ़ से 15 लोगों की मौत और 22 लोग हुए घायल

पाकिस्तान में आई आंधी और फिर भारी बारिश ने कम से कम 15 लोगों की जान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *