Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

12 साल से पेप्सिको की सीईओ इंदिरा नूई अक्टूबर में पद छोड़ेंगी

इंद्रा नूई (62) तीन अक्टूबर को पेप्सीको के सीईओ का पद छोड़ने जा रही हैं। इंद्रा 24 साल से इस कंपनी में हैं और 12 साल से सीईओ के पद पर हैं। वे 2019 तक कंपनी के चेयरमैन पद पर बनी रहेंगी। 54 साल के रामोन लागुआर्ता नए सीईओ होंगे। स्पेन के रामोन 22 साल से पेप्सी से जुड़े हैं।

नूई ऐसे वक्त पर पद छोड़ रही हैं जब पेप्सीको की नॉर्थ अमेरिकन बेवरेज यूनिट सोडा की खपत घटने की वजह से संकट से जूझ रही है।इंद्रा पेप्सीको के इतिहास में पहली महिला सीईओ के तौर पर नियुक्त हुई थीं। पद से हटने के अपने फैसले पर उन्होंने कहा पेप्सीको का नेतृत्व करना मेरे जीवन का सबसे यादगार समय रहा।

पिछले 12 साल में हमने कंपनी के शेयरधारकों और साझेदारों के हितों को आगे बढ़ाने के लिए जो कुछ किया है, उसे लेकर में बहुत गर्व महसूस करती हूं। मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि भारतीय मूल की होकर इतनी बड़ी कंपनी का नेतृत्व करने का मौका मिलेगा। पेप्सीको आज मजबूत स्थिति में है, आगे और भी अच्छा वक्त आएगा।

इंद्रा ने इंडस्ट्री की चुनौतियों का सामना करते हुए कंपनी की फ्रिटो-ले यूनिट को आगे बढ़ाया। चीतोज और माउंटेन ड्यू जैसे फ्लैगशिप ब्रांड लॉन्च करवाए। इंद्रा ने ही पेप्सीको को सिर्फ कोला बनाने के रोल से बाहर निकाला। उनके कार्यकाल के दौरान पेप्सीको ने हमस और कॉम्बुचा जैसे ड्रिंक्स बनाए।

पिछले 11 सालों में कंपनी ने शेयरधारकों को 162% रिटर्न दिया। 2006 में रेवेन्यू 35 अरब डॉलर था जो पिछले साल 63.5 अरब डॉलर पहुंच गया।नूई का जन्म 18 अक्टूबर 1955 को तमिलनाडु के मद्रास में हुआ था। शुरुआती पढ़ाई होली एंजल्स एंग्लो इंडियन हायर सैकंडरी स्कूल से हुई। 1974 में मद्रास यूनिवर्सिटी से स्नातक किया।

1976 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कलकत्ता से एमबीए की पढ़ाई पूरी की। 23 साल की उम्र में वे विदेश चली गईं। येल से पब्लिक एंड प्राइवेट मैनेजमेंट में मास्टर्स की डिग्री ली।करियर की शुरुआत 1976 में मेटर बीयर्ससेल में बतौर प्रोडक्ट मैनेजर के तौर पर की।

एक साल यहां काम करने के बाद 1977 में जॉनसन एंड जॉनसन से जुड़ गईं। 1980 में द बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) में इंटरनेशनल कॉरपोरेट स्ट्रेटजिस्ट बन गईं। बीसीजी में छह साल रहने के बाद 1986 में मोटोरोला में वाइस प्रेसिडेंट और डायरेक्टर (कॉरपोरेट स्ट्रेटजी एंड प्लानिंग) की जिम्मेदारी संभाली।

1990 में एशिया ब्राउन बोवेरी में सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (स्ट्रेटजी एंड स्ट्रेटजिक मार्केटिंग) के पद पर ज्वाइन कर लिया। चार साल बाद 1994 में पेप्सीको के साथ बतौर सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (स्ट्रेटजिक प्लानिंग) जुड़ीं। 2001 में सीएफओ और 2006 में सीईओ बन गईं। इंद्रा की 1980 में राज नूई से शादी हुई। राज एमसॉफ्ट सिस्टम्स में प्रेसिडेंट हैं। इंद्रा-राज की दो बेटियां प्रीता और तारा हैं। प्रीता 34 और तारा 25 साल की हैं।

Check Also

अमेरिकी कांग्रेस का चुनाव लड़ने के लिए तैयार भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर सपन शाह

भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर सपन शाह अगले साल अमेरिकी कांग्रेस का चुनाव लड़ेंगे। शिकागो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *