कालेधन वालों की जानकारी देने के लिए स्विट्जरलैंड तैयार

black-money

कालाधन जमा कराने वालों के बारे में जानकारी हासिल करने के उद्देश्य से भारत और स्विटजरलैंड ने मंगलवार को संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए.जिससे दोनों देशों के बीच सूचनाओं के स्वत: आदान-प्रदान का मार्ग खुल गया है.

भारत की ओर से केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अध्यक्ष सुशील चंद्रा और स्विटजरलैंड की ओर से स्विस दूतावास के मिशन उप प्रमुख गिल्लेस रोडुई ने इस घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं.अब दोनों देश सूचनाओं के स्वत: आदान-प्रदान को क्रियान्वित करेंगे. वित्त मंत्रालय के अनुसार, सितंबर 2019 से उस देश में भारतीयों के वित्तीय लेन देन की सूचनायें मिलेंगी.

नोटबंदी पर विपक्ष बुधवार को संसद भवन में धरना देगा. विपक्ष की कोशिश है कि इसमें विपक्षी दलों के ज्यादा से ज्यादा सांसद शामिल हों. विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक में यही बात हुई कि सरकार की तरफ से संसद सुचारू रूप से चलाने के कोई प्रयास नहीं हो रहे हैं, इसलिए विपक्ष को विरोध जारी रखना चाहिए.

Check Also

फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव में इमैनुएल मैक्रों का राष्ट्रपति बनना तय

फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव में सत्ताधारी सोशलिस्ट पार्टी को सबसे करारी हार मिली है। उसे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *