ब्रेक्जिट के कारण ब्रिटिश प्रधानमंत्री को रातों को नींद नहीं आती

britain-pm-theresa

ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने स्वीकार किया है कि ब्रेक्जिट पर ब्रिटेन के लिए सर्वश्रेष्ठ संभावित सौदासुनिश्चित करने की चुनौतियां उन्हें रातों को सोने नहीं देतीं.द संडे टाइम्स पत्रिका को दिये साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ ईयू से अलग होने पर ईयू से बातचीत के कारण वे रातों में देर तक काम करती हैं.

प्रधानमंत्री (60) ने कहा इस काम में आपको सोने का ज्यादा समय नहीं मिलता.थेरेसा 13 जुलाई को प्रधानमंत्री बनी थीं और वे माग्रेट थैचर के बाद ब्रिटेन की केवल दूसरी महिला प्रधानमंत्री हैं.सबसे बड़ी चिंताएं और रातों को जागने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा यह बदलाव का क्षण है. यह बहुत चुनौतीपूर्ण समय है. और हमें ब्रेक्जिट के संदर्भ में तैयार होने की जरूरत है. और मैं इसे लेकर बहुत संजीदा हूं.

उन्होंने कहा मैं यह करना चाहती हूं कि मैं जो भी करूं वह सुनिश्चित करे कि ब्रिटेन सभी के लिए काम करने वाला देश हो. और बाहर निकलकर बेक्जिट के बाद दुनिया में नयी भूमिका तय करे.थेरेसा ने कहा हम इसे सफल बना सकते हैं, हम इसे सफल बनाएंगे लेकिन ये वास्तव में जटिल मुद्दे हैं. हमें बेक्जिट के संदर्भ में तैयार होने की जरूरत है. हम ब्रिटेन के लिए सर्वश्रेष्ठ संभव समझौता करना है.

Check Also

स्पेन के कैमब्रिल्स में दूसरे हमले में 7 लोग हुए जख्मी

स्पेन में 24 घंटे में दूसरा हमला हुआ। इसमें एक पुलिसकर्मी समेत 7 लोग जख्मी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *