अमेरिका में रेस्टोरेंट के बाहर गनमैन की फायरिंग में तीन की मौत

 अमेरिका के नैशविल शहर में एक शूटर ने तीन लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस विभाग के मुताबिक, हमला सुबह करीब 3 बजे हुआ। हमलावर ने रेस्टोरेंट के पास ही तीन लोगों पर गोली चलाई। इसमें चार लोग गंभीर रूप से घायल भी बताए गए हैं।

 पुलिस ने स्टेटमेंट जारी कर बताया कि हमलावर ने कोई कपड़े नहीं पहने थे और वारदात को अंजाम देने के बाद वो एक राइफल के साथ पैदल ही फरार हो गया। पुलिस ने शूटर की पहचान 29 साल के इलिनोइ शहर के रहने वाले ट्रैविस रेनकिंग के रूप में की है। जानकारी के मुताबिक, जिस गाड़ी से शूटर रेस्टोरेंट पहुंचा था वो रेनकिंग के नाम पर ही रजिस्टर्ड है।

लोकल मीडिया ने पुलिस जांच के बाद बताया कि हमलावर के पास एआर-15 असॉल्ट राइफल थी। गौरतलब है कि अमेरिका में होने वाले ज्यादातर शूटिंग की घटनाओं में इसी राइफल का इस्तेमाल किया जाता है।पिछले साल अक्टूबर में लास वेगास हमलों में 58 लोगों को मारने के लिए इसी बंदूक का इस्तेमाल किया गया था।

इस हमले में 58 लोगों की जान गई थी। इस साल फरवरी में हुआ फ्लोरिडा स्कूल हमला, जिसमें 17 बच्चों और स्टाफ की जान गई थी में भी शूटर ने एआर-15 राइफल की तरह की एक बंदूक इस्तेमाल की थी।एक गन कंट्रोल ग्रुप के मुताबिक, अमेरिका के स्कूलों में इस साल फायरिंग की यह 18वीं घटना थी। इसमें खुदकुशी करने के और वे मामले भी शामिल हैं, जिनमें कोई हताहत नहीं हुआ।

दुनियाभर की कुल सिविलियन गन में से 48% (करीब 31 करोड़) सिर्फ अमेरिकियों के पास हैं।89% अमेरिकी अपने पास हथियार रखते हैं। 66% लोगों के पास एक से ज्यादा गन हैं।अमेरिका में हथियार बनाने वाली इंडस्ट्री का सालाना रेवेन्यू 91 हजार करोड़ रुपए है। 2.65 लाख लोग इस कारोबार से जुड़े हुए हैं।

अमेरिकी इकोनॉमी में हथियार की बिक्री सें 90 हजार करोड़ रुपए आते हैं। हर साल एक करोड़ से ज्यादा रिवॉल्वर, पिस्टल जैसे हथियार बनते हैं।बीते 50 साल में अमेरिका में हथियारों ने 15 लाख से ज्यादा जान ले लीं। इसमें मास शूटिंग और मर्डर से जुड़ीं 5 लाख मौतें हुईं। बाकी जानें सुसाइड, गलती से चली गोली और कानूनी कार्रवाई में गई हैं।बता दें कि अमेरिका में हथियार रखना बुनियादी हकों में आता है।

Check Also

रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को लेकर अमेरिका ने सीरिया पर दागी मिसाइलें

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश के बाद सीरिया पर अमेरिका ने हवाई हमले शुरू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *