इरमा तूफान से कैरेबियन आईलैंड्स में अब तक 15 की मौत

 कैरेबियन आईलैंड्स में तबाही मचाने वाला इरमा को अब तक का सबसे टिकाऊ तूफान रिकॉर्ड किया गया। बरमूडा, सेंट मार्टिन और ब्रिटिश और अमेरिकी वर्जिन आईलैंड्स में इस तूफान की वजह से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। फ्रांस की वेदर सर्विस के मुताबिक 33 घंटों से भी ज्यादा वक्त तक इस तूफान में 295 किलोमीटर/घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं।

इतनी लंबे वक्त तक ताकतवर हवाओं के साथ चलने वाला इरमा अब तक का सबसे टिकाऊ तूफान रिकॉर्ड किया गया है। 1970 में सेटेलाइट एरा की शुरुआत से अबतक ऐसे शक्तिशाली तूफान को रिकॉर्ड नहीं किया गया है। और, ये अभी भी आगे बढ़ रहा है। मेटिओ फ्रांस की फोरकास्टर एटीन कैपीकिआन ने न्यूज एजेंसी से कहा बहमास को हिट करने तक इरमा कैटेगरी-5 स्टॉर्म में बने रहेगा।

बता दें कि कैटेगरी 5 में सबसे ज्यादा तीव्रता वाले तूफान शामिल किए जाते हैं, जिनमें 252Kmph से ज्यादा की रफ्तार से हवाएं चलती हैं।मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के तूफान विशेषज्ञ केरी इमैनुएल के मुताबिक इरमा, सेकंड वर्ल्ड वॉर में इस्तेमाल हुए कुल बम से दो गुना ज्यादा ताकतवर है। इसमें 7 लाख करोड़ वाट्स की शक्ति है। जबकि, सेकंड वर्ल्ड में न्यूक्लियर बम समेत इस्तेमाल हुए सभी बमों की ताकत 3 लाख करोड़ वाट्स थी।

इरमा को दो अन्य तूफान जोस, केटिया का साथ मिल गया है। इससे यह और भी खतरनाक हो गया है।इरमा तूफान ने आगे बढ़ने के दौरान कैरेबियन देशों में तबाही मचा दी है। ये तूफान 2013 में आए हैयान तूफान से भी आगे निकल गया। हैयान तूफान के दौरान हवाओं की रफ्तार 300Kmph तक पहुंच गई थी, लेकिन ये रफ्तार केवल 24 घंटे तक थी। हैयान तूफान में करीब 7000 लोगों की जान चली गई थी, या वे लापता हो गए थे।

इरमा बुधवार को कैरेबियाई द्वीप बारबुडा से 297 kmph की रफ्तार से टकराया। यूएस के फ्लोरिडा स्टेट में इमरजेंसी लगा दी गई है। यहां तूफान के शुक्रवार देर रात पहुंचने की आशंका है। 166 साल में यह दूसरा मौका है, जब 15 दिन में अमेरिका में दो ताकतवर तूफान (हार्वे के बाद इरमा) आए हैं। इरमा से करीब 3 करोड़ लोगों के प्रभावित होने की आशंका है।

कैरेबियाई द्वीप सेंट मार्टिन को इरमा ने भारी नुकसान पहुंचाया है। ये द्वीप 95% तक बर्बाद हो चुका है।इरमा तूफान के चलते उत्तरी कैरीबिया में अब तक 15 लोगों की जान चली गई है। तूफान की वजह से इमारतें तबाह हो गईं और घर उड़ गए। पेड़ उखड़ गए। इसके चलते हजारों लोग बेघर हो गए हैं।कैरेबियाई द्वीपों में हजारों लोग बेघर हो गए हैं।

फ्रांस के इंटीरियर मिनिस्टर गेरार्ड कोलॉम्ब ने कहा कि राहत और बचाव कार्य शुरू किए जा चुके हैं। कोलॉम्ब ने कहा आईलैंड्स में 1 लाख फूड पैकेट्स भेजे गए हैं। इन इलाकों में कम्युनिकेशन करने में काफी मुश्किल आ रही है।इरमा के चलते पूरे प्यूर्तो रिको में बिजली गुल हो गई। यहां बिजली बहाल करने में 6 महीने लगेंगे। कुछ हिस्सों में सात से 15 दिनों में बिजली बहाल होगी।

तेज हवाओं और बारिश के चलते यहां काफी नुकसान हुआ। ये हैती और डोमिनिकन रिपब्लिक की ओर तय वक्त से पहले ही रवाना हो गया।बरमूडा में करीब-करीब हर इमारत इरमा की वजह से तबाह हो गई है। तूफान का केंद्र यहां से गुजरा और इस दौरान इमारतें तबाह होने से यहां के 1400 निवासियों में से करीब 60 फीसदी बेघर हो गए। एंटीगुआ और बरमूडा के प्राइम मिनिस्टर गैस्टन ब्राउने ने कहा ये तबाही मचा देने वाले हालातों की एक श्रंखला है।

ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड में भी इरमा की वजह से इमारतों और घरों को काफी नुकसान पहुंचा है। कैरेबियाई आईलैंड सेंट मार्टिन को इरमा ने भारी नुकसान पहुंचाया है। ये 95% तक बर्बाद हो चुका है।इस बात की आशंका है कि इरमा रविवार सुबह घनी आबादी वाले फ्लोरिडा पहुंच जाएगा। इसके चलते गवर्नर ने इमरजेंसी का एलान कर दिया है और मियामी मेट्रो और साउथ कैरोलिना के इलाकों से लोगों को घर खाली करने को कहा गया है।

फोरकास्टर्स के मुताबिक, तूफान का असर पूरे फ्लोरिडा पर पड़ेगा और ये जॉर्जिया और साउथ कैरोलिना को भी अपनी चपेट में लेगा।मियामी यूनिवर्सिटी में हरिकेन रिसर्चर ब्रायन मैकनोल्डी ने कहा ये अमेरिका के इतिहास में सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने वाला तूफान होगा।फ्लोरिडा में इस तूफान से 25 इंच बारिश होगी। इससे लैंडस्लाइड और बाढ़ की आशंका है। इससे यहां के दो करोड़ लोग प्रभावित होंगे।

फ्लोरिडा की संतरे और कॉटन की फसल चौपट हो जाएगी। ब्राजील के बाद संतरे का सबसे ज्यादा प्रोडक्शन यहीं होता है।क्रूज बिजनेस और इंश्योरेंस कंपनी के शेयर गिर गए हैं। फ्लोरिडा में इंश्योरेंस कंपनियों को 7 लाख करोड़ का क्लेम देना पड़ेगा।अमेरिका में इस तूफान का नाम डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका के नाम पर रखने का कैम्पेन चलाया जा रहा है।

Check Also

31 अक्टूबर से बेहद दुर्लभ तस्वीरों की नीलामी करेगा नासा

चंद्रमा की सतह से पहली बार ली गई तस्वीर के साथ ही अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *