भारत में अमेरिकी दूतावास में नहीं ले जा सकेंगे लैपटॉप या टेबलेट

भारत में मौजूद अमेरिकी दूतावास अपने किसी भी सेंटर पर लैपटॉप, टैबलेट्स या आईपैड्स ले जाने पर रोक लगा दी है। एम्बेसी ने एक स्टेटमेंट में साफ किया कि उसके लिए अपने सेंटर्स पर आने वाले गेस्ट और स्टाफ की सिक्युरिटी सबसे अहम है। एम्बेसी ने ये कदम यूएस गवर्नमेंट के ऑर्डर पर उठाया है।गुरुवार शाम नई दिल्ली में अमेरिकी एम्बेसी ने एक स्टेटमेंट जारी किया।

इसमें कहा गया कि भारत में मौजूद सभी अमेरिकन सेंटर्स को लेकर सिक्युरिटी रिव्यू किया गया है। जिन सेंटर्स को लेकर सिक्युरिटी रिव्यू किया गया उनमें दिल्ली के अलावा मुंबई, कोलकाता और चेन्नई शामिल हैं।स्टेटमेंट में कहा गया- यूएस के दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई सेंटर्स में आने वाले विजिटर्स अब अपने साथ लैपटॉप, टैबलेट या आईपैड जैसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस नहीं ले जा सकेंगे।

 

स्टेटमेंट के मुताबिक, इस बैन का मकसद विजिटर्स और स्टाफ की सिक्युरिटी पुख्ता करना है। स्टेटमेंट में कहा गया है कि अमेरिका ने दुनियाभर में अपने सेंटर्स पर इन चीजों को बैन किया हुआ है क्योंकि सिक्युरिटी से किसी भी सूरत में कोई समझौता नहीं किया जा सकता। स्टेटमेंट में ये भी बताया गया है कि जिन गैजेट्स पर बैन लगाया गया है वो चेन्नई सेंटर में पहले से ही बैन हैं।

यूएस एम्बेसी ने साफ किया है कि पर्सनल इलेक्ट्रॉनिक्स पर जो बैन लगाया गया है वो किसी खास मॉडल पर नहीं बल्कि सभी मॉडल्स के लैपटॉप्स और टैबलेट्स, नेटबुक्स, क्रोमबुक्स, आईपैड्स, किंडल्स और मैकबुक्स पर लगाया गया है।हालांकि, स्टेटमेंट में ये भी साफ किया गया है कि मोबाइल फोन ले जाने पर रोक नहीं लगाई गई है। लेकिन, चेन्नई सेंटर पर फोन भी नहीं ले जा सकेंगे।

Check Also

इजराइल-फिलिस्तीन में भीषण हिंसा के बाद अमेरिका ने यरुशलम में खोला दूतावास

अमेरिका ने तेल अवीव से अपना दूतावास स्थानांतरित कर यरूशलम में खोल दिया. अमेरिका के इस कदम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *