कलिंगा लांसर्स बना पांचवें हॉकी इंडिया लीग का विजेता

दबंग मुंबई को 4-1 से हराया, माजिल के गोल से उत्तर प्रदेश विजार्डस को मिला तीसरा स्थान.कप्तान मारित्ज फुरस्ते और अनुभवी ग्लेन टर्नर के गोल की बदौलत कलिंगा लांसर्स ने रविवार को रोमांचक फाइनल में दबंग मुंबई को 4-1 से हराकर पांचवें हॉकी इंडिया लीग का खिताब जीता.कलिंगा लांसर्स की टीम लगातार दूसरे साल फाइनल खेल रही थी जबकि दबंग मुंबई पहली बार खिताबी मुकाबले तक पहुंची थी.

पिछले साल लांसर्स को फाइनल में पंजाब वारियर्स से हार झेलनी पड़ी थी. लांसर्स की तरफ से आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टर्नर ने 18वें मिनट में मैदानी गोल किया जबकि जर्मन स्टार फुरस्ते ने 30वें और 59वें मिनट में दो पेनल्टी कार्नर को गोल में बदला. दबंग मुंबई के लिए अफान यूसुफ ने 33वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल किया. 

इससे पहले आगस्टिन माजिल के आखिरी क्षणों में किए गोल से उत्तर प्रदेश विजार्डस ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए दिल्ली वेवराइडर्स को 5-4 से हराकर कांस्य पदक हासिल किया. कलिंगा लांसर्स 2013 से शुरू की इस लीग का खिताब जीतने वाली चौथी टीम है. इससे पहले रांची रेज (पहले रांची राइनो) ने दो बार (2013 और 2015) जबकि दिल्ली वेवराइडर्स (2015) और पंजाब वारियर्स (2016) ने एक-एक बार खिताब जीता. 

लांसर्स को खिताब जीतने पर चमचमाती ट्रॉफी तथा 2.50 करोड़ रुपए का पुरस्कार मिला जबकि लीग चरण में सर्वाधिक अंक लेकर शीर्ष पर रही दबंग मुंबई को उप विजेता बनने पर 1.25 करोड़ रुपए मिले. तीसरे स्थान पर रही उत्तर प्रदेश विजार्डस की टीम को 75 लाख रुपए का पुरस्कार मिला.फाइनल के शुरुआती 15 मिनट में दोनों टीमों ने अपनी तरफ से प्रयास किए और अच्छे मौके बनाए लेकिन कोई भी टीम गोल नहीं कर पायी.

कलिंगा लांसर्स के पास तीसरे मिनट में ही गोल करने का मौका था लेकिन दबंग मुंबई के गोलकीपर डेविड हर्टे ने टीम पर आया संकट टाल दिया. टर्नर ने इसके बाद अपनी चपलता, तेजी और कौशल का खूबसूरत नमूना पेश करके मैदानी गोल किया और कलिंगा लांसर्स को 2-0 की बढ़त दिला दी. लीग के नियमों के अनुसार मैदानी गोल को दो गोल के बराबर माना जाता है. फुरस्ते के पेनल्टी कार्नर पर किए गोल से लांसर्स मध्यांतर तक 3-0 से आगे था.

अफान युसुफ ने ऐसे मौके पर अच्छे वैरिएशन के दम पर पेनल्टी कार्नर पर गोल करके दबंग मुंबई का खाता खोला. उसकी तरफ से गुरजंत सिंह के पास 38वें मिनट में गोल करने का अच्छा मौका था लेकिन गोलकीपर एंड्रयू चार्टर ने इस हमले को नाकाम कर दिया. लांसर्स ने आखिरी क्वार्टर में अपनी पूरी ताकत गोल बचाने में लगा दी. दबंग मुंबई ने आखिरी क्षणों में वापसी के लिए अच्छी कोशिशें की लेकिन अंत में उसे उप विजेता से ही संतोष करना पड़ा. 

इससे पहले माजिल का अंतिम क्षणों का गोल विजार्डस को तीसरा स्थान दिला गया. तीसरे स्थान के प्ले ऑफ मैच में जब खेल समाप्त होने में तीन मिनट का समय बचा था तब अज्रेंटीनी स्ट्राइकर माजिल ने फ्लोरेंट वान औबेल के पास गोल दागा जो आखिर में निर्णायक साबित हुआ. दिल्ली वेवराइडर्स ने अच्छी शुरुआत की. उसकी तरफ से जस्टिन रीड रोस ने 15वें मिनट में मैदानी गोल करके टीम को 2-0 से बढ़त दिलायी. यूपी विजार्डस के शमशेर सिंह (18वें मिनट) ने मैदानी गोल करके स्कोर बराबर किया. 

वेवराइडर्स के कप्तान रूपिंदर पाल सिंह ने 24वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल दागा. इसके बाद उन्होंने 36वें मिनट में फिर से पेनल्टी कार्नर पर गोल करके अपनी टीम को 4-2 से आगे कर दिया. अज्रेंटीनी ड्रैग फ्लिकर गोंजालो पीलैट ने 38वें मिनट में यूपी विजार्डस को मिले पेनल्टी कार्नर पर गोल करके अंतर 3-4 से कम किया. इसके बाद माजिल का गोल निर्णायक बना.

Check Also

भारतीय महिला टीम ने उरुग्वे को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराया

भारतीय महिला टीम ने उरुग्वे को पेनल्टी शूट आउट में 4-2 से हराकर महिला हॉकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *