Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Tag Archives: शिवजी

आज है सावन का पहला सोमवार, देशभर के शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं का लगेगा तांता

आज सोमवार सावन मास का तीसरा दिन है। इस पूरे महीने में शिव पूजा का विशेष महत्व है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, शिवजी की पूजा विधि बहुत ही विस्तृत है, इसलिए वर्तमान की भाग-दौड़ भरी लाइफ में इतना समय शायद ही किसी के पास हो। इस स्थिति में आसान विधि से भी शिवजी की पूजा सावन …

Read More »

महाशिवरात्रि पर भगवान शिव को कैसे करें प्रसन्न जाने

भारतीय परंपरा में फाल्गुन मास की त्रयोदशी के दिन आने वाली शिवरात्रि को महाशिवरात्रि के रूप में देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है। महाशिवरात्रि के व्रत को अमोघ फल देने वाला बताया गया है। महाशिवरात्री का पर्व हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार है। शिव का अर्थ है कल्याणकारी, शिव यानि बाबा भोलेनाथ, शिवशंकर, शिवशम्भू, शिवजी, नीलकंठ और रूद्र आदि नाम …

Read More »

Why do we offer milk to Lord Shiva । शिवलिंग पर दूध और बेलपत्र क्यों चढ़ाते है जानें

Why do we offer milk to Lord Shiva : शिवजी की पूजा  एक  श्रद्धा  का विषय है।  आप मे से कई लोग भगवान शिव जी के अनन्य भगत होंगे लेकिन क्या वे जानते है की शिवलिंग पर जल के साथ दूध और बेल पत्र  को क्यू …?चड़ाया जाता है । पूजा करना,बंदगी करना,पाठ करना,नमाज अदा करना ये सभी अलग –अलग …

Read More »

What is true worship? । पूजा से सम्बंधित नियमों के बारें में जानिए

What is true worship? : सुखी और समृद्धिशाली जीवन के लिए देवी-देवताओं के पूजन की परंपरा काफी पुराने समय से चली आ रही है। आज भी बड़ी संख्या में लोग इस परंपरा को निभाते हैं। पूजन से हमारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, लेकिन पूजा करते समय कुछ खास नियमों का पालन भी किया जाना चाहिए। अन्यथा पूजन का शुभ फल …

Read More »

Kalaashtami vrat vidhi । कालाष्टमी व्रत विधि

कालाष्टमी का त्यौहार हर माह की कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन कालभैरव की पूजा की जाती है जिन्हें शिवजी का एक अवतार माना जाता है। इसे कालाष्टमी, भैरवाष्टमी आदि नामों से जाना जाता है। कालाष्टमी व्रत विधि (kalaashtami vrat vidhi in Hindi) शास्त्रों के अनुसार कालाष्टमी के दिन कालभैरव की पूजा करनी चाहिए। इस दिन …

Read More »

Hanuman Jayanti Vrat Vidhi हनुमान जयंती व्रत विधि

Hanuman Jayanti Vrat Vidhi हनुमान जयंती व्रत विधि               हनुमान जी को शिवजी का ग्यारहवां अवतार माना जाता है। हिन्दू मान्यतानुसार रुद्रावतार भगवान हनुमान माता अंजनी और वानर राज केसरी के पुत्र हैं। हनुमान जी की जन्मतिथि पर कई मतभेद हैं लेकिन अधिकतर लोग चैत्र शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को ही हनुमान जयंती के रूप में मानते हैं।

Read More »

Mahamrityunjay Mantra । महामृत्युंजय मंत्र

“महामृत्युंजय मंत्र” भगवान शिव द्वारा दिया सबसे बड़ा मंत्र माना जाता है। हिन्दू धर्म में इस मंत्र को प्राण रक्षक और महामोक्ष मंत्र कहा जाता है। मान्यता है कि महामृत्युंजय मंत्र (Mahamrityunjay Mantra) से शिवजी को प्रसन्न करने वाले जातक से मृत्यु भी डरती है। इस मंत्र को सिद्ध करने वाला जातक निश्चित ही मोक्ष को प्राप्त करता है। यह …

Read More »

Pradosh Vrat Katha। प्रदोष व्रत कथा

प्रत्येक माह की दोनों पक्षों की त्रयोदशी के दिन संध्याकाल के समय को “प्रदोष” कहा जाता है और इस दिन शिवजी को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत रखा जाता है। प्रदोष व्रत की कथा निम्न है:प्राचीन काल में एक विधवा ब्राह्मणी अपने पुत्र को लेकर भिक्षा लेने जाती और संध्या को लौटती थी। एक दिन जब वह भिक्षा लेकर …

Read More »

Ram Chalisa । राम चालीसा

राम चालीसा श्री रघुवीर भक्त हितकारी । सुन लीजै प्रभु अरज हमारी ।। निशिदिन ध्यान धरै जो कोई । ता सम भक्त और नहिं होई ।। ध्यान धरे शिवजी मन माहीं । ब्रहृ इन्द्र पार नहिं पाहीं ।। दूत तुम्हार वीर हनुमाना । जासु प्रभाव तिहूं पुर जाना ।। तब भुज दण्ड प्रचण्ड कृपाला । रावण मारि सुरन प्रतिपाला ।। …

Read More »