फ्रेंच ओपन में रिकॉर्ड 12वीं बार सेमीफाइनल में पहुंचे नडाल

स्पेन के राफेल नडाल फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के मेन्स सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंच गए। उन्होंने रिकॉर्ड 11वीं बार इस टूर्नामेंट के आखिरी 4 में जगह बनाई है। वर्ल्ड नंबर 1 नडाल ने बारिश से प्रभावित क्वार्टर फाइनल मैच में अर्जेंटीना के डिएगो सेबस्टियान श्वार्ट्जमैन को 4-6, 6-3, 6-2, 6-2 से हराया।

सेमीफाइनल में उनका मुकाबला अर्जेंटीना के ही जुआन मार्टिन डेल पोत्रो से होगा। पोत्रो ने क्रोएशिया के मारिन सिलिक को 7-6, 5-7, 6-3, 7-6 से हराया। वुमेन्स सिंगल्स में वर्ल्ड नंबर 1 रोमानिया की सिमोना हालेप तीसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचीं। फाइनल में उनका मुकाबला अमेरिका की स्लोन स्टीफेंस से होगा।

32 साल के नडाल ने 11वीं बार फ्रेंच ओपन आखिरी 4 में जगह बनाई है। ग्रैंड स्लैम के इतिहास में वे तीसरे खिलाड़ी है, जिसने किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में इतनी बार जगह बनाई है। उनसे आगे स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर और अमेरिकी के जिमी कोनर्स हैं। खास यह है कि नडाल ने जितनी बार भी सेमीफाइनल में जगह बनाई है, उतनी बार फ्रेंच ओपन की ट्रॉफी पर कब्जा किया है। 

जिमी कोनर्स ने 1974 से 1991 के दौरान 14 बार यूएस ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनाई। इस दौरान उन्होंने 5 बार यूएस ओपन के ट्रॉफी पर कब्जा किया।रोजर फेडरर 2003 से 2017 के दौरान 12 बार विंबल्डन के आखिरी 4 में जगह बनाने में सफल रहे हैं। इस दौरान वे 8 बार बिंबल्डन चैम्पियन बने।

ग्रैंड स्लैम मैचों की बात करें तो नडाल की यह 235वीं जीत है। बारिश के कारण बुधवार को जब मैच रोकना पड़ा था, तब नडाल पहला सेट 6-4 से जीत चुके थे, लेकिन दूसरे सेट में 3-5 से पीछे थे। नडाल 13 साल में सिर्फ 2 बार ही फ्रेंच ओपन में हारे हैं। 2016 में दो राउंड जीतने के बाद चोटिल होने के कारण वे टूर्नामेंट से हट गए थे। 

नडाल को डिएगो को हराने में कुल 3 घंटे 42 मिनट लगे। पूरे मैच के दौरान दोनों खिलाड़ी सिर्फ 1-1 ही ऐस लगा पाए, जबकि 3-3 डबल फाल्ट किए।वुमेन्स सिंगल्स ओपन में हालेप ने लगातार दूसरे साल फ्रेंच ओपन के फाइनल में जगह बनाई है। उन्होंने वेनेजुएला मूल की स्पेनिश खिलाड़ी गारबाइन मुगुरुजा को 6-1, 6-4 से हराया।

वे इससे पहले 2014 व 2017 में फ्रेंच ओपन का फाइनल खेल चुकी हैं। हालांकि दोनों बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।दूसरे सेमीफाइनल में अमेरिका की स्लोन स्टीफेंस ने हमवतन मैडिसन कीज को सीधे सेटों में 6-4, 6-4 से मात दी।

10वीं वरीयता प्राप्त स्लोन ने अपने से ऊंची रैंक वाली (7वीं वरीयता प्राप्त) मैडिसन कीज को हराने में महज 77 मिनट लिए।मैच के दौरान मैडिसन ने 7 ऐस लगाए, जबकि स्लोन 1 भी नहीं लगा सकीं। हालांकि मैडिसन ने 2, जबकि स्लोन ने 1 डबल फाल्ट किए।

Check Also

केविन एंडरसन को मात देकर जोकोविच ने जीता विंबलडन 2018 का खिताब

नोवाक जोकोविच ने दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन को हराते हुए विंबलडन 2018 का खिताब अपने नाम किया. जोकोविच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *