कॉमनवेल्थ खेल में हॉकी में मलेशिया को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा भारत

कॉमनवेल्थ खेलों के छठे दिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए मलेशिया को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. इससे पहले भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ मुकाबला बराबरी पर छूटने से भारत की उम्मीदों को जरूर झटका लगा था, लेकिन भारत ने शानदार वापसी कर पहले वेल्स को कड़े मुकाबले में मात दी जिसके बाद मंगलवार को मलेशिया से मैच जीत कर सेमीफाइनल में जगह बना ली.

भारत ने गोल्ड कोस्ट हॉकी स्टेडियम में खेले गए मैच में मलेशिया को 2-1 से हारया. भारत के लिए हरमनप्रीत सिंह ने तीसरे और 44वें मिनट में गोल किए जबकि मलेशिया के लिए फैजल सारी ने 16वें मिनट में एक मात्र गोल किया. हरमनप्रीत ने दोनों गोल पेनाल्टी कॉर्नर पर किए. 

भारत ने मैच की शानदार शुरुआत की और तीसरे मिनट में ही बढ़त ले ली. मैच के तीसरे मिनट में ही भारत ने मलेशिया के घेरे में जगह बनाई और पेनाल्टी कॉर्नर हासिल किया जिसपर हरमनप्रीत ने गोल करते हुए भारत को 1-0 से आगे कर दिया.

गोल खाने के बाद भी मलेशिया दबाव में नहीं आई और उसने कई बार भारतीय रक्षापंक्ति की परीक्षा ली. वो हालांकि अपने प्रायसों को अंजाम नहीं दे सकी और पहले क्वार्टर का अंत भारत के पक्ष में 1-0 से हुआ.दूसरे क्वार्टर में हालांकि वो बराबरी करने में सफल रही.

मलेशिया के लिए यह गोल फैजल सारी ने किया. फैजल के पास गेंद आई और वो उसे लेकर अकेले आगे बढ़ दिए. उन्होंने आसानी से वन-टू-वन में भारत के गोलकीपर पी.आर. श्रीजेश को मात देते हुए बराबरी का गोल किया.अगले ही मिनट भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन भारत के हिस्से दूसरा गोल नहीं आया.

भारत ने दूसरे क्वार्टर में मलेशियाई खेमे में आक्रमण के जो प्रयास किए वो अंजाम तक नहीं पहुंच सके. दूसरे क्वार्टर का अंत 1-1 की बराबरी पर हुआ. तीसरे क्वार्टर के आखिरी पलों में भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला जिस पर हरमनप्रीत ने गोल करते हुए भारत को 2-1 की बढ़त दिला दी. इस बढ़त को भारत ने आखिरी क्वार्टर तक कायम रखा और सेमीफाइनल में प्रवेश किया. 

पिछले मुकाबले में भारत ने वेल्स को 4-3 से मात दी. एक समय यह मुकाबला 3-3 से ड्रॉ लग रहा था, लेकिन 58वें मिनट में मिले पेनाल्टी कॉर्नर पर एस.वी सुनिल ने रिबाउंड पर गोल करते हुए भारत की जीत दिलाई. भारत के लिए पहला गोल दिलप्रीत ने 16वें मिनट में किया.

दिलप्रीत ने दाहिने छोर से शानदार डाइव मार भारत को 1-0 से आगे कर दिया, लेकिन एक मिनट बाद ही गारेथ ने वेल्स को बराबरी पर ला दिया.मनदीप सिंह ने 27वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर रिबाउंड पर गोल कर भारत को एक बार फिर आगे कर दिया. वेल्स को हालांकि बराबरी का गोल करने के लिए 17 मिनट लगे.

गारेथ ने स्कोर एक बार फिर बराबर कर दिया. 56वें मिनट में भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला और इस बार हरमनप्रीत सिंह ने उसे गोल में तब्दील करने में कोई गलती नहीं की. भारत 3-2 से आगे था लेकिन गारेथ ने एक मिनट बाद ही भारतीय गोलकीपर पी.आर. श्रीजेश को मात देकर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया.

हालांकि भारत का मनोबल गिरा नहीं और उसने आक्रमण जारी रखे और अगले ही मिनट उसे एक और पेनाल्टी कॉर्नर मिला जिस पर सुनिल ने रिबाउंड पर गोल करते हुए भारत को जीत दिलाई.उससे पहले भारत की उम्मीदों को शुक्रवार को तब झटका लगा था जब अंतिम पलों में गोल कर पाकिस्तान ने भारत के मुंह से जीत छीन ली और दोनों टीमों को एक एक अंक बांटना पड़ा.

हॉफ टाइम तक भारतीय टीम 2-0 से आगे चल रही थी. भारत का जहां शुरु में शानदार खेल रहा तो वहीं दूसरे हॉफ के बाद पाकिस्तान ने वापसी की लेकिन मैच ड्रॉ कराने के लिए अंतिम क्षणों में मिले पेनाल्टी कॉर्नर का सहारा मिला.खास बात यह रही कि यह पेनाल्टी कॉर्नर पाकिस्तान को रिफरल के तहत मिला और इस पेनाल्टी कॉर्नर के गोल के बाद मैच खत्म हो गया.

इससे पहले भारत ने शुरू से ही पाकिस्तान पर दबाव बनाया जिसका फायदा 13वें मिनट में दलप्रीत सिंह के गोल से हुआ. इसके बाद 19 वें मिनट में हरमनप्रीत ने पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में बदल कर भारत को 2-0 की बढ़त दिला दी. भारत की यह बढ़त हॉफ टाइम तक कायम रही. इसके बाद पाकिस्तान ने बेहतर प्रदर्शन कर स्कोर 2-1 किया और आखिरी मिनट में गोल कर स्कोर 2-2 की बारबरी पर कर दिया.

Check Also

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिये भारतीय हॉकी टीम का ऐलान

गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने गोल्ड कोस्ट में होने वाले 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के लिये 18 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *