फुटबॉल विश्व कप में दूसरे सेमीफाइनल में क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 से हराया

फुटबॉल विश्व कप में दूसरे सेमीफाइनल में क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 से हरा दिया। इस जीत के साथ ही वह पहली बार विश्व कप के फाइनल में पहुंच गया। क्रोएशिया 1950 (उरुग्वे) के बाद फाइनल में पहुंचने वाला सबसे छोटा देश बना। उसकी आबादी केवल 40 लाख है। वह फाइनल में जगह बनाने वाला सबसे कम रैंकिंग (20) वाला देश भी बन गया है।

क्रोएशिया के मांजुकिच ने एक्स्ट्रा टाइम के 109वें मिनट में निर्णायक गोल किया। मांजुकिच का इस विश्व कप में ये दूसरा गोल है। इससे पहले निर्धारित समय तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं। इंग्लैंड के लिए ट्रिपिएर ने 5वें मिनट में फ्री किक से गोल किया। उसके बाद क्रोएशिया के इवान पेरिसिच ने 68वें मिनट में गोल किया।

क्रोएशिया ने इस विश्व कप में लगातार तीसरा नॉक आउट मैच फुल टाइम के बाद जीता। इससे पहले उसने प्री-क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क और क्वार्टर फाइनल में मेजबान रूस को पेनल्टी शूटआउट में हराया था। क्रोएशिया एक विश्व कप में तीन एक्सट्रा टाइम मैच खेलने वाला दूसरा देश बना।

इससे पहले 1990 में इंग्लैंड ने ऐसा किया था। क्रोएशिया को 1998 विश्व कप के सेमीफाइनल में मेजबान फ्रांस के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। वहीं इंग्लैंड का 1966 के बाद फाइनल खेलने का सपना टूट गया। वह 1990 के सेमीफाइनल में भी हार गया था।ट्रिपिएर विश्व कप के किसी सेमीफाइनल में गोल करने वाले इंग्लैंड के तीसरे खिलाड़ी बने।

उनसे पहले गैरी लिनेकर और बॉबी चॉर्लटन ऐसा कर चुके हैं। ट्रिपिएर 1966 के बाद से विश्व कप में डायरेक्ट फ्री किक से गोल करने वाले इंग्लैंड के दूसरे खिलाड़ी भी बने। इससे पहले डेविड बेकहम ने 1998 और 2006 में ऐसा किया था। ट्रिपिएर का गोल इंग्लैंड के लिए इस विश्व कप में 12वां गोल है।

इंग्लैंड ने 1966 के 11 गोल का रिकॉर्ड तोड़ा। तब वह चैम्पियन बना था। मैच का पहला यलो कार्ड क्रोएशिया के मांजुकिच को 48वें मिनट में मिला। उसके बाद 96वें मिनट में रेबिच को यलो कार्ड मिला। क्रोएशिया ने स्ट्रीनिच की जगह पिवारिच को 95वें मिनट, रेबिच की जगह क्रेमेरिच को 101वें मिनट, मांजुकिच की जगह कोरलुका को 115वें मिनट और कप्तान लुका मोड्रिच की जगह बडेल को 119वें मिनट में मैदान पर उतारा।

वहीं इंग्लैंड के वॉल्कर को 54वें मिनट में यलो कार्ड मिला। इंग्लैंड ने मैच में पहला रिप्लेसमेंट करते हुए स्टर्लिंग की जगह रैशफोर्ड को 74वें मिनट में मैदान पर उतारा। उसके बाद 91वें मिनट में एश्ले यंग की जगह रोज, 97वें मिनट में हेंडरसन की जगह एरिक डायर और 112वें मिनट में वॉल्कर की जगह वार्डी को मैदान पर भेजा।

Check Also

थाईलैंड में 17 दिन बाद गुफा से सुरक्षित निकाले गए 12 बच्चे और उनके कोच

थाईलैंड में संकरी गुफा में एक पखवाड़े से अधिक समय तक जल समाधि की विभीषिका …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *