13वीं रैंक की टीम स्कॉटलैंड ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम को हराया

इंग्लैंड की टीम आज 13वीं रैंक की टीम स्कॉटलैंड से हार गई. 372 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की पूरी टीम 365 रन पर ऑलआउट हो गई. इंग्लैंड की ओर से जॉनी बेयरस्टो ने 54 गेंदों में शतक लगाकर इंग्लैंड की जीत की उम्मीद जताई लेकिन उनके आउट होने के बाद इंग्लैंड की पारी लड़खड़ा गई और 6 रन से यह मैच हार गई.

इंग्लैंड की टीम एक समय पर स्कोर 220/2 रन था लेकिन स्कॉटलैंड के पलटवार के बाद में यह 276/7 हो गया. मैच की दोनों पारियों में कुल 737 रन बने. मार्च के बाद यह स्कॉटलैंड का पहला मैच था. टीम इंग्लैंड एवं वेल्स में 2019 विश्वकप के लिए क्वालिफिकेशन से करीब से चूक गई थी. इंग्लैंड की ओर से लियाम प्लंकेट ने नाबाद 47 रन बनाए लेकिन वह टीम को जीत न दिला सके.

 
 
इससे पहले, स्कॉटलैंड ने कैलम मैकलियोड के नाबाद शतक की बदौलत इंग्लैंड के खिलाफ एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में पांच विकेट पर 371 का रिकार्ड स्कोर बनाया. इंग्लैंड के खिलाफ यह स्कॉटलैंड का शानदार प्रदर्शन रहा जो इस समय वनडे रैंकिंग में शीर्ष पर है.

मैकलियोड ने नाबाद 140 रन बनाए जिससे स्कॉटलैंड ने इस स्तर पर बनाये गए अपने पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया जो चार साल पहले क्राइस्टचर्च में कनाडा के खिलाफ नौ विकेट पर 341 रन का स्कोर खड़ाकर बनाया था.कनाडा को भी उसकी तरह टेस्ट का दर्जा प्राप्त नहीं है. 

स्कॉटलैंड ने 15वें ओवर तक दो विकेट पर 107 रन बनाए. मैकलियोड ने इसके बाद शानदार शुरुआत की और जार्ज मुनसे (55) के साथ चौथे विकेट के लिये 107 रन की भागीदारी निभाई. उनतीस वर्षीय मैकलियोड ने महज 70 गेंद में शतक बना लिया था जो उनका इस स्तर पर सातवां सैकड़ा है लेकिन सक्रिय टेस्ट देश के खिलाफ पहला है.

यह इंग्लैंड के खिलाफ किसी भी स्कॉटलैंड खिलाड़ी का पहला शतक है. मैकलियोड ने कुल 94 गेंद का सामना किया जिसमें 16 चौके और तीन छक्के शामिल हैं.टीम इंडिया इंग्लैंड का दौरा करेगी. इस सीरीज में 3 टी20, 3 वनडे और 5 टेस्ट मैच खेले जाएंगे. भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टी20 मैच 3 जुलाई को खेला जाएगा.

इसके बाद 6 जुलाई और 8 जुलाई को टी20 मैच होगा. 12 जुलाई से वनडे सीरीज का आगाज होगा. 17 जुलाई को तीसरा और आखिरी वनडे मैच खेला जाएगा. वहीं टेस्ट सीरीज की शुरुआत 9 अगस्त से होगी और ये 11 सितंबर तक चलेगी. क्रिकेट जगत के कई दिग्ग्ज इस दौरे में भारत का पलड़ा भारी बता रहे हैं.  

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल को लगता है कि इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत के पास जीत दर्ज करने का सर्वश्रेष्ठ मौका होगा क्योंकि घरेलू टीम कई मोर्चों पर अच्छा नहीं कर रही. चैपल ने लिखा भारत के पास इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में उनकी सरजमीं पर हराने का दुर्लभ मौका है.लार्ड्स के मैदान पर पाकिस्तान से हार के बाद इंग्लैंड की टीम को झटका लगा है.

इसके बाद इंग्लैंड ने पाकिस्तान को हेडिंग्ले में हराया तो लेकिन वह प्रभाव छोड़ने में कामयाब नहीं रही.चैपल ने इंग्लैंड की टीम में कई खामियां गिनाई जिसमें एलिस्टर कुक के प्रदर्शन के साथ सलामी बल्लेबाजी के लिए उनके जोड़ीदार का बार-बार बदलना और तेज गेंदबाजी विभाग में सिर्फ दाएं हाथ के गेंदबाजों का होना शामिल हैं. उन्होंने कहा कि आफ स्पिनर डोम बेस अनुभवहीन है.

Check Also

सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर का भारतीय अंडर-19 टीम में हुआ चयन

सचिन तेंदुलकर के बेटे और मुंबई के क्रिकेटर अर्जुन तेंदुलकर को अगले महीने श्रीलंका दौरे के लिए जाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *