Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

राजकोट टेस्ट में वेस्टइंडीज पर फॉलोऑन का खतरा, पहली पारी में 94 रन पर गिरे छह विकेट

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में भारत ने नौ विकेट पर 649 रन बनाकर पहली पारी घोषित कर दी। पृथ्वी शॉ, कप्तान विराट कोहली और रविंद्र जडेजा ने शतक लगाए। विराट ने अपना 24वां शतक लगाया। वेस्टइंडीज की पारी की शुरुआत खराब हुई। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के समय वह पहली पारी में छह विकेट पर 94 रन ही बना पाया था। 

रोस्टन चेज 27 और कीमो पॉल 13 रन बनाकर नाबाद हैं। उस पर फॉलोऑन का खतरा मंडरा रहा है। फॉलोऑन टालने के लिए उसे 450 रन का आंकड़ा छूना होगा।वेस्टइंडीज की पारी के तीसरे ओवर में मोहम्मद शमी ने कप्तान कार्लोस ब्रैथवेट को दो रन के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। शमी ने अपने अगले ओवर में काइरेन पावेल को एलबीडब्ल्यू किया।

पावेल सिर्फ एक रन ही बना सके थे। इस विकेट का फैसला रिव्यू से आया। पहले अंपायर ने पावेल को नॉटआउट दिया था, लेकिन भारत ने रिव्यू लिया। इसके बाद अंपायर ने पावेल को पवेलियन की ओर जाने का इशारा किया। शाई होप को रविचंद्रन अश्विन ने बोल्ड किया। शर्मोन हेटमायर को 10 रन के निजी स्कोर पर रविंद्र जडेजा ने सीधे थ्रो पर रन आउट कर दिया।

अंबरीश भी जडेजा की गेंद पर रहाणे को स्लिप में कैच दे बैठे। शेन डॉवरिच कुलदीप यादव की गेंद पर बोल्ड हो गए। उस समय उनका निजी स्कोर 10 रन था।भारत ने 149.5 ओवर में नौ विकेट पर 649 रन बनाकर पहली पारी घोषित की। रविंद्र जडेजा 100 और मोहम्मद शमी दो रन पर नाबाद पवेलियन लौटे। जडेजा का यह करियर का पहला शतक और सर्वोच्च स्कोर है।

इससे पहले उनका अधिकतम स्कोर 90 रन था जो उन्होंने 26 नवंबर 2016 को मोहाली में इंग्लैंड के खिलाफ 90 रन बनाया था। जडेजा ने राजकोट के इसी मैदान पर 2012 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तिहरा शतक लगाया था। उसके बाद ही वे प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तीन तिहरे शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बन गए थे।

ऋषभ पंत अपना दूसरा टेस्ट शतक लगाने से चूक गए। वे 92 रन के स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्हें देवेंद्र बिशू की गेंद पर कीमो पॉल ने मिडविकेट पर लपका। विराट 139 रन बनाकर शेर्मन लेविस की गेंद पर मिड ऑन में देवेंद्र बिशू के हाथों लपके गए। वे सबसे कम टेस्ट और पारियां खेलकर 24 शतक लगाने के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंच गए। लेविस का यह पहला टेस्ट है। विराट लेविस का दूसरा शिकार बने।

रविचंद्रन अश्विन ने टीम के स्कोर में सात रन का योगदान दिया। विशू की बाहर जाती गेंद ने उनके बल्ले का बाहरी किनारा लिया और विकेटकीपर शेन डॉर्विच ने उनका कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। कुलदीप यादव विशू का चौथा शिकार बने। वे 12 के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू हुए। पहले दिन भारत ने चार विकेट खोकर 364 रन बनाए थे। उमेश यादव को कार्लोस ब्रैथवेट ने लेविस के हाथों कैच कराया। उमेश ने 24 गेंद में 22 रन बनाए।

Check Also

विजय हजारे ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में दिल्ली ने हरियाणा को पांच विकेट से हराया

दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर के शतक और तेज गेंदबाज कुलवंत खेजरोलिया की हैट्रिक की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *