Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Why is Diwali important to Hindus? । दिपावली के महत्व के बारें में जानें

diwali-festival

Why is Diwali important to Hindus? : दिपावली का त्यौहार हमारे भारतवर्ष में बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। यह हिंन्दुओं का प्रमुख त्यौहार है, यह पर्व अंग्रेजी कलेंडर के अनुसार अक्टूबर या नवंबर माह में आता है। आइये और जानें अपने पावन पर्व दीपावली का महत्तव। अँधेरे पर उजालों की जीत तथा असत्य पर सत्य की विजय के आधार को ध्यान में रख कार्तिक मास की अमावस्या के दिन दीपावली का त्यौहारपूरे भारतवर्ष में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है |

इस महापर्व के सुअवसर पर हिंदू , सिख, बौध ,जैन सभी विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता महालक्ष्मी का पूजन करते हैं | हिन्दू धर्म ग्रन्थ में वर्णित कथाओं के अनुसार दीपावली का यह पावन त्यौहार मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के 14 वर्ष के बाद बनवास के बाद अपने राज्य में वापस लौटने की स्मृति में मनाया जाता है | व्यापारीगण दिपावली के दिन दीपों की माला सजाकर नई बही खातों का मुहूर्त करते हैं |

जैन धर्म में इस पर्व की मान्यता है कि जब भगवान महावीर पावानगरी के मनोहर उद्यान में जाकर विराजमान हो गए और जब चतुर्थकाल पूरा होने में 3 वर्ष 8 माह बाकी थे, तब कार्तिक अमावस्या के दिन सुबह स्वाति नक्षत्र के दौरान स्वामी महावीर अपने सांसारिक जीवन से मुक्त होकर मोक्षधाम को प्राप्त कर गए | उस समय इन्द्र सहित सभी देवों ने आकर भगवान महावीर के शरीर की पूजा की और पूरी पावानगरी को दीपकों से सजाकर प्रकाशयुक्त कर दिया |

इसीलिये जैन धर्मी इस दिन को भगवान महावीर का निर्वाणोत्सवके रुप में मानते हैं | ऐसा भी माना जाता है कि इसी दिन शाम श्री गौतम स्वामी को केवल ज्ञान की प्राप्ति हुई थी | जैन श्रद्धालुओं की ये मान्यता है कि 12 गणों के स्वामी गौतम गणधर ही गौरी पुत्र गणेश हैं | इसीलिये जैनी भी इस दिन विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता महालक्ष्मी का पूजन करते हैं |

इस दिन दीपकों की पूजा का विशेष महत्व होता है | इस दिन रात के अंधेरे को दूर करते हुए माना जाता है कि दीपमाला को लगा कर प्रकाश के द्वाराअसत्य पर सत्य की जीत व आध्यात्मिक अज्ञानता को दूर किया जा रहा है | इन सभी धर्मप्रेमियोंका ये विश्वास है कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से उनके घर में कभी भी दरिद्रता का वास नहीं होगा और वे सदा ही अन्न, धन, धान्य व वैभव से संपन्न रहेंगे | दिपावली का ये पर्वसही अर्थोंमें समाज में उल्लास, भाई-चारे व प्रेम का सन्देश फैलता है |

Check Also

Govardhan Puja Vidhi । गोवर्धन पूजा- पूजन विधि, कथा और महत्व जानें

Govardhan Puja Vidhi : कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा यानी दीपावली के दूसरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *