कमला मिल्स कंपाउंड में हुए अग्निकांड के मुख्य आरोपी वन अबव पब के तीनों मालिक गिरफ्तार

कमला मिल्स कंपाउंड में हुए अग्निकांड के मुख्य आरोपी और वन अबव पब के तीनों मालिकों कृपेश सांघवी, जिगर सांघवी और अभिजीत मंकार को गिरफ्तार कर लिया गया है। कृपेश और जिगर दोनों को उनके वकील के घर के बाहर से पकड़ा गया था। दोनों गिरफ्तारी से बचने के लिए कानूनी राय लेने के लिए अपने वकील के पास गए थे। जबकि अभिजीत मंकार को दोनों की निशानदेही पर अरेस्ट किया गया है।

29 दिसंबर को हुए अग्निकांड के बाद से ये फरार चल रहे थे और पुलिस ने इनपर एक लाख का इनाम भी घोषित किया था।इससे पहले इन दोनों को कथित तौर पर शरण देने के आरोप में एक होटल मालिक विशाल करिया को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि विशाल करिया की निशानदेही पर ही पुलिस ने कृपेश सांघवी, जिगर सांघवी को अरेस्ट किया है।

पुलिस के पास एकदम पुख्ता जानकारी थी कि सांघवी ब्रदर्स वेस्ट लिंकिंग रोड पर बांद्रा आ रहे हैं। सादी वर्दी में पुलिस की जांच टीम सांघवी ब्रदर्स का इंतजार करने लगीं। जैसे ही दोनों भाई वहां पहुंचे पुलिस ने उन्हें धर दबोचा।इन तीनों पर गैर इरादतन हत्या और दूसरी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसी मामले में मोजोज रेस्टोरेंट के मालिक युग तुली भी फरार हैं।

कमला मिल्स कम्पाउंड के पब में लगी आग के मामले में फायर ब्रिगेड डिपार्टमेंट ने अपनी जांच रिपोर्ट पेश की थी। इसके मुताबिक, आग की शुरुआत मोजोस ब्रिस्टो पब से हुई थी।आग का कारण हुक्के से निकली चिंगारी थी। इस चिंगारी ने कपड़े के एक पर्दे को अपनी चपेट में लिया और कुछ देर में यह पूरे बार में फैल गई। 

वन अबव बार के फरार मालिकों के रिश्तेदार आदित्य सिंघवी ने भी दावा किया था कि आग की शुरुआत मोजोज बार से हुई थी। आग एक चिंगारी से लगी और मोजोस के पास उसे बुझाने के लिए इक्विपमेंट्स नहीं थे। उनका स्टाफ ट्रेंड नहीं था, इसलिए यह फैलते हुए वन अबव बार तक पहुंच गई।

आदित्य ने ये भी आरोप लगाया था कि मोजोज के मालिकों के खिलाफ इस मामले सिर्फ कम्प्लेंट दर्ज हुई है और वे आराम से घूम रहे है। पुलिस उसके मालिकों को बचा रही है।रिपोर्ट के मुताबिक, 29 दिसंबर को जब आग लगी तो वह फैलती ही चली गई, क्योंकि मोजोस ब्रिस्टो और वन अबव रेस्तरां टॉप पर थे, इसीलिए दोनों की छत भी एक ही थी, उनमें प्लास्टिक और बांस-बल्लियों का इस्तेमाल किया गया था।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि यह आग मोजोस पब के साउथ-ईस्ट डायरेक्शन के एक कोने से शुरू हुई। आग का कारण यह भी बताया गया है कि 31 दिसंबर (न्यू ईयर सेलिब्रेशन) के चलते वहां सजावट भी की गयी थी। सजावट के लिए पर्दे, कागज और प्लास्टिक से बने सामानों का खूब इस्तेमाल किया गया था, जिससे आगे को फैलने का मौका मिला।

रिपोर्ट में आईविटनेस के हवाले से बताया गया है कि आग के समय मोजोज के रेस्टोरेंट में हुक्का परोसा गया था, जिसके बाद यह आग लग गई। जबकि रेस्टोरेंट में शराब और हुक्का परोसने की इजाजत नहीं थी। इसके बावजूद भी यह धंधा अवैध रूप से चलाया जा रहा था।

रिपोर्ट में एक चौंकाने वाला खुलासा यह भी किया गया है कि जब मोजोस में आग लगी तो वहां अफरा-तफरी मच गयी, लेकिन वन-अबव में काफी तेज आवाज में डीजे बज रहा था, जिससे किसी को भी चीख पुकार की कोई आवाज नहीं सुनाई दी।

मोजोस और वन-अबव से बाहर जाने का एक ही रास्ता था और वह थी लिफ्ट। आग लगने के बाद सभी लोग भाग कर लिफ्ट के यहां आ गए और वहां भीड़ जमा हो गयी। लिफ्ट से केवल 5 लोग ही बाहर जा सकते थे, लेकिन दोनों पबों में 200-250 लोग थे।

कमला मिल्स कम्पाउंड में आगजनी की घटना के बाद फरार चल रहे वन अबव रेस्टोरेंट के मालिक क्रिपेश मनसुखलाल संघवी, जिगर मनसुखलाल संघवी और अभिजीत अशोक मानकर की जानकारी देने वाले शख्स को पुलिस ने एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की थी।

पुलिस का कहना है कि आगजनी की घटना के बाद इन तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304, 337, 338 व 34 के तहत मामला दर्ज किया गया ।मामले की जांच कर रही एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने कुल चार एफआईआर दर्ज की है। पुलिस 50 से ज्यादा चश्मदीदों के बयान दर्ज किए हैं।

पुलिस घटना के वक्त पब में मौजूद दूसरे लोगों से भी संपर्क करने की कोशिश कर रही है।आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने गैर-इरादतन हत्या समेत विभिन्न आरोपों में एफआईआर दर्ज की है।मोजोस और वन-अबव से बाहर जाने का एक ही रास्ता था और वह थी लिफ्ट। आग लगने के बाद सभी लोग भाग कर लिफ्ट के यहां आ गए और वहां भीड़ जमा हो गयी। लिफ्ट से केवल 5 लोग ही बाहर जा सकते थे, लेकिन दोनों पबों में 200-250 लोग थे।

Check Also

गीतकार गोपालदास नीरज का हुआ 93 वर्ष की उम्र में निधन

गीतकार गोपालदास नीरज का शाम निधन हो गया। उन्हें महाकवि भी कहा जाता था। वे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *