Refreshed through Worship । जाने पूजा में क्यों होता है संकल्प का विधान

कहा जाता है कि यदि सही विधि से किसी भी देवता की पूजा की जाएं तो उसका सुखद फल प्राप्त होता है। पूजा भी दो तरह से कि जाती है एक तो सामान्य तौर पर हम घर पर ही पूजा करते है और दूसरा किसी धार्मिक पंडित द्वारा पूरे विधि विधान और धर्म कर्म से पूजा करवाई जाती है।

हिन्दू धर्म में कुल 33 कोटी के देवी देवता बताएं गए है और हर किसी की पूजा विधि अलगं अलग तरह से की जाती है लेकिन सबकी पूजा विधि में एक चीज समान रहती है और वो है संकल्प। शास्त्रों के अनुसार किसी भी पूजन से पहले संकल्प लेना आवश्यक है, बिना संकल्प लिए कोई भी पूजा पूरी नही मानी जाती।

Check Also

अमरनाथ यात्रा का इतिहास

अमरनाथ गुफा हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थस्‍थल है. प्राचीनकाल में इसे अमरेश्वर कहा जाता था. श्रीनगर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *