Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

सेंसर बोर्ड ने टेक्निकल वजहों से पद्मावती मूवी फिल्म मेकर्स को वापस की

सेंसर बोर्ड ने फिल्म पद्मावती मेकर्स को वापस कर दी है। एएनआई को सोर्सेस ने बताया कि ऐसा टेक्निकल वजहों से किया गया है। सेट नॉर्म्स पर फिल्म का रिव्यू करने के बाद ही फिल्म मेकर्स इसे बोर्ड को वापस भेजेंगे। इस बीच, फिल्म को प्रोड्यूस करने वाली वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स के CEO अजीत अंधरे ने कहा- फिल्म की रिलीज टालने की बातें पूरी तरह से बेसलेस हैं।

बता दें कि कुछ रिपोर्ट्स में ये बात कही जा रही थी कि पद्मावती के विरोध और पॉलिटिकल प्रेशर के चलते फिल्म मेकर्स ने रिलीज 12 जनवरी तक टाल दी है। फिल्म की रिलीज डेट 1 दिसंबर है।राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, रिलीज से पहले यह फिल्म पार्टी के राजपूत रिप्रेजेंटेटिव्स को दिखाई जानी चाहिए।राजस्थान के राजघराने भी फिल्म के विरोध में हैं। उन्होंने इसके एक गाने में घूमर नृत्य के दौरान दीपिका के पहनावे पर सवाल उठाए हैं।

शुक्रवार को चित्तौड़गढ़ किला टूरिस्ट्स के लिए एक दिन बंद करवा दिया। किसी आंदोलन को लेकर यह किला पहली बार बंद किया गया।चित्तौड़गढ़ किले पर बंद के दौरान निकाली गई रैली में किसी शख्स ने फायरिंग की। लोग ये कहते सुने गए कि तोपें भी चलेंगी।दौसा में गधों पर संजय लीला भंसाली और दीपिका पादुकोण के पोस्टर निकालकर लोगों ने पद्मावती फिल्म का विरोध किया।

जयपुर में सर्व ब्राह्मण महासभा ने फिल्म के विरोध में खून किए गए सिग्नेचर कैम्पेन को शुरू किया।कोटा के एक मॉल में मंगलवार को फिल्म का ट्रेलर दिखाया जा रहा था। कुछ प्रदर्शनकारियों ने यहां पर तोड़फोड़ की।जनवरी में जयपुर में शूटिंग के दौरान संजय लीला भंसाली को कुछ लोगों ने थप्पड़ भी मार दिया था। उनके बाल खींचे गए।

शूटिंग वाली जगह पर काफी तोड़-फोड़ की गई थी। यह हंगामा करणी सेना की ओर से किया गया था।15 अक्टूबर को सूरत के उमरा एरिया में लोकल आर्टिस्ट करण ने राहुल राज मॉल में इस फिल्म पर 48 घंटे की मेहनत से एक रंगोली बनाई थी। करण का दावा है कि इसे जय श्रीराम के नारे लगाते हुए आए करीब 100 लोगों ने मिटा दिया।

करणी सेना के महिपाल मकराना ने कहा राजपूत कभी महिलाओं पर हाथ नहीं उठाते, लेकिन जरूरत पड़ी तो हम दीपिका पादुकोण का वही हाल करेंगे, जो लक्ष्मण ने सूर्पणखा का किया था।संभल में प्रोटेस्टर्स ने पोस्टर दिखाए। इनमें लिखा था कि संजय लीला भंसाली का सिर काटने वाले को 50 लाख इनाम।

मेवाड़ के पूर्व राजघराने के मेंबर्स ने घूमर के गलत प्रोजेक्शन, खिलजी को हीरो बताने और रानी पद्मावती से जुड़े तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश करने के आरोप लगाए। कहा- बयानबाजी और तोड़फोड़ में यकीन नहीं रखते, बातचीत से मसला सुलझाना चाहते हैं।

Check Also

बिहार की अदालत में रवीना टंडन के खिलाफ मामला दर्ज

बिहार के मुजफ्फरपुर की एक अदालत में बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन के खिलाफ एक मामला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *