Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

पूजन विधि

Pradosh Vrat Vidhi । प्रदोष व्रत विधि

स्कंदपुराण के अनुसार त्रयोदशी तिथि में सांयकाल को प्रदोष काल कहा जाता है। धर्म, मोक्ष और सुख की प्राप्ति के लिए भक्तों को प्रदोष काल में शिवजी की पूजा करनी चाहिए। प्रदोष व्रत विधि (Pradosh Vrat Vidhi in Hindi) प्रत्येक माह के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी के दिन प्रदोष व्रत किया जाता है। इस दिन सूर्यास्त से पहले …

Read More »

Durga Puja Vidhi । दुर्गा पूजा विधि

चैत्र और आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को दुर्गा जी की पूजा करने का विधान है। आश्विन मास की अष्टमी तो पूरे देश में धूमधाम से मनाई जाती है। इस दिन समस्त उपचारों से देवी दुर्गा की पूजा करने का विधान है। दुर्गा पूजा विधि (Durga Puja Vidhi) अष्टमी के दिन मां दुर्गा की विशेष पूजा करनी …

Read More »

Mangalvar Vrat Vidhi । मंगलवार व्रत विधि

हिन्दू धर्म के अनुसार मंगलवार का दिन भगवान श्री हनुमान को समर्पित है। इस दिन मंदिरों में हनुमान जी की विशेष पूजा की जाती है। मंगलवार के दिन श्रद्धालु व्रत भी करते हैं। मान्यता है कि मंगलवार का व्रत करने से भय और चिंताओं का तो अंत होता ही है साथ ही शनि की महादशा या साड़ेसाती से हो रही …

Read More »

Ravivar Vrat Vidhi । रविवार व्रत विधि

हिन्दू धर्म ने रविवार व्रत को सम्पूर्ण पापों को नाश करने वाला, आरोग्यदायक और अत्यधिक शुभ फल देने वाला माना जाता है। इस दिन भगवान सूर्यदेव की पूजा का विधान है। रविवार व्रत विधि (Ravivar Vrat Vidhi) पूजा समाप्ति के बाद रात को भगवान सूर्य को याद करते हुए तेल रहित भोजन करना चाहिए। एक वर्ष तक इसी प्रकार रविवार …

Read More »

Ratha Saptami Vrat Vidhi । रथ सप्तमी व्रत विधि

रथ सप्तमी व्रत विधि (Ratha Saptami) भगवान सूर्य देव को समर्पित “रथ सप्तमी” का व्रत माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को रखा जाता है। मान्यता है इस दिन किए गए स्नान, दान, होम, पूजा आदि सत्कर्म हजार गुना अधिक फल देते हैं। रथ सप्तमी व्रत विधि (Rath Saptami Vrat Vidhi Hindi) भविष्यपुराण अनुसार माघ मास के शुक्ल …

Read More »

Sati Vrat vidhi । सती व्रत विधि

सती व्रत ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को रखा जाता है। यह व्रत परम उत्तम व्रत माना जाता है। इस दिन भगवान गणेश के अनिरुद्ध रूप की पूजा की जाती है। यह व्रत मनोवांछित फल देने वाला माना जाता है। सती व्रत विधि (Benefits of Sati Vrat Vidhi in Hindi) नारद पुराण के अनुसार सती व्रत का पालन …

Read More »

Shubha Ashubh Nidarshan Vrat vidhi । शुभाशुभ- निदर्शन व्रत विधि

शुभाशुभ- निदर्शन व्रत आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को रखा जाता है। शुभाशुभ- निदर्शन में विशेष रूप से लोकपाल तथा भगवान शिव की पूजा की जाती है। यह व्रत सौभाग्य फलदायी माना जाता है। शुभाशुभ- निदर्शन व्रत विधि (Shubha Ashubh Nidarshan Vrat Vidhi) नारद पुराण के अनुसार आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को सर्वव्यापी वायु की …

Read More »

Upanglalita Vrat vidhi । उपांगललिता व्रत विधि

उपांगललिता व्रत अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को रखा जाता है। इस दिन विशेष रूप से ललिता देवी की स्वर्णिम प्रतिमा बनाकर उसकी पूजा की जाती है। उपांगललिता व्रत उत्तम फलदायी व्रत माना जाता है। उपांगललिता व्रत विधि (Upanglalita Vrat Vidhi) नारद पुराण के अनुसार अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन व्रती को प्रातः संभव …

Read More »

Kumar Vrat vidhi । कुमार व्रत विधि

कुमार व्रत चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की षष्ठी को रखा जाता है। इन दिन विशेष रूप से भगवान षडानन की पूजा की जाती है। यह व्रत उन स्त्रियों के लिए विशेष फलदायी माना जाता है जिन्हें पुत्र की कामना हो। कुमार व्रत विधि (Kumar Vrat Vidhi Hindi) नारद पुराण के अनुसार चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की षष्ठी के …

Read More »

Magh Purnima Vrat vidhi । माघ पूर्णिमा व्रत विधि

पूर्णिमा का व्रत हर महीने रखा जाता है। इस दिन आकाश में चांद अपने पूर्ण रूप में दिखाई देता हैं। हर पूर्णिमा व्रत की महिमा और विधियां भिन्न होती हैं। माघ पूर्णिमा व्रत कई श्रेष्ठ यज्ञों का फल देने वाला माना जाता है। माघ पूर्णिमा व्रत विधि (Magh Purnima Vrat Vidhi in Hindi) नारद पुराण के अनुसार माघ माह में …

Read More »