Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

व्रत त्यौहार

Chhath Pooja। छठ पूजा

भगवान सूर्यदेव के प्रति भक्तों के अटल आस्था का अनूठा पर्व छठ हिन्दू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक मनाया जाता है।  छठ व्रत कथा (Chhath Vrat Katha) दीवाली के ठीक छह दिन बाद मनाए जानेवाले इस महाव्रत की सबसे कठिन और साधकों हेतु सबसे महत्वपूर्ण रात्रि कार्तिक शुक्ल षष्टी की होती …

Read More »

Ramnavami। रामनवमी

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के जन्मदिन के सुअवसर पर चैत्र शुक्ल मास के नवमी तिथि को रामनवमी का विशेष पर्व मनाया जाता है। साल 2016 में राम नवमी  (Ram Navami 2016) का त्यौहार 15 अप्रैल को मनाया जाएगा। राम नवमी कथा (Ram Navami Katha in Hindi) पौराणिक कथानुसार राम नवमी के ही दिन त्रेता युग में महाराज दशरथ के घर …

Read More »

Anant Chaturdashi। अनंत चतुर्दशी

श्रद्धालुजनों को संकटों से रक्षा करने वाला अनन्तसूत्र बंधन का त्यौहार अनंत चतुर्दशी हिन्दू पंचांग के अनुसार भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है। इस साल अनंत चतुर्दशी का पर्व 04 दिसंबर 2014 को मनाया जाएगा। अनंत चतुर्दशी व्रत कथा (Ananat Chaturdashi Vrat Katha) भविष्य पुराण के अनुसार जुए में पांडव राजपाट हार कर जब जंगल …

Read More »

Nag Panchami । नाग पंचमी

नागों को हिन्दू धर्म में अहम स्थान दिया गया है। त्रिदेवों में से एक भगवान शिव के गले में स्थान पाने वाले नागों की हिन्दू धर्म में पूजा की जाती है। नागों की पूजा का विशेष पर्व “नाग पंचमी” है। कब मनाई जाती है नाग पंचमी?  हिन्दू धर्मानुसार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी मनाई …

Read More »

Raksha Bandhan । रक्षाबंधन

हिन्दू पंचांगानुसार श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन (Rakshabandhan) का त्यौहार मनाया जाता है। यह त्यौहार भाई-बहन का एक-दूसरे के प्रति स्नेह, प्यार और अटूट विश्वास का प्रतीक है। विधि विधान (History and Vidhi of Raksha Bandhan) भविष्यपुराण के अनुसार इस दिन राजा को मन्त्रों आदि द्वारा अपने दाहिने हाथ में रक्षा सूत्र बंधवाना चाहिए। समय के साथ और …

Read More »

Pongal । पोंगल

किसानों का त्यौहार पोंगल मुख्य रूप से दक्षिण भारत में मनाया जाता है। चार दिनों तक मनाया जानेवाला यह त्यौहार कृषि एवं फसल से संबंधित देवता को समर्पित है। पारंपरिक रूप से संपन्नता को समर्पित इस त्यौहार के दिन भगवान सूर्यदेव को जो प्रसाद भोग लगाया जाता है उसे पोगल कहा जाता है, जिस कारण इस त्यौहार का नाम पोंगल …

Read More »

Ganesh Chaturthi । गणेश चतुर्थी

हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रत्येक वर्ष भाद्रपद मास के शुक्ल चतुर्थी को हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार गणेश चतुर्थी मनाया जाता है. गणेश पुराण में वर्णित कथाओं के अनुसार इसी दिन समस्त विघ्न बाधाओं को दूर करनेवाले, कृपा के सागर तथा भगवान शंकर और माता पार्वती के पुत्र श्री गणेश जी का आविर्भाव हुआ था. भगवान विनायक के जन्मदिवस पर मनाया …

Read More »

Makar-sankranti । मकर संक्रांति

ख़ुशी और समृद्धि का प्रतीक मकर संक्रांति त्यौहार सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर मनाया जाता है. भारतवर्ष के विभिन्न प्रान्तों में यह त्यौहार अलग-अलग नाम और परम्परा के अनुसार मनाया जाता है. मकर संक्रांति के रूप(Names of Makar Sankranti) उत्तर भारत में इसे मकर संक्रांति, पंजाब हरियाणा में लोहड़ी, असम में बिहू और दक्षिण भारत में पोंगल …

Read More »

Lalita Panchami । ललिता पंचमी

हिन्दू पंचांग के अनुसार शक्तिस्वरूपा देवी ललिता को समर्पित ललिता पूर्णिमा आश्विन मास के शुक्ल पक्ष में होनेवाले नवरात्री के पांचवे दिन मनाया जाता हैं. इस सुअवसर पर भक्तगण व्रत रखते हैं जो कि ललिता पंचमी व्रत के नाम से जाना जाता है. यह पर्व गुजरात और महाराष्ट्र के साथ साथ लगभग पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है. पौराणिक मान्यतानुसार …

Read More »

Rambha Tratiya Vrat । रम्भा तृतीया व्रत

रम्भा तृतीया व्रत : रम्भा तृतीया व्रत ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष के तीसरे दिन रखा जाता है। इस दिन अप्सरा रम्भा की पूजा की जाती है। इसे रम्भा तीज भी कहा जाता है।हिन्दू मान्यतानुसार सागर मंथन से उत्पन्न हुए 14 रत्नों में से एक रम्भा थीं। कहा जाता है कि रम्भा बेहद सुंदर थी। कई साधक् रम्भा के नाम से …

Read More »