Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

वैदिक ज्ञान

What is Religion in Hindi धर्म किसे कहते हैं

धर्म किसी एक या अधिक परलौकिक शक्ति में विश्वास और इसके साथ-साथ उसके साथ जुड़ी रिति, रिवाज़, परम्परा, पूजा-पद्धति और दर्शन का समूह है। मनु ने धर्म के दस लक्षण बताये हैं: धृतिः क्षमा दमोऽस्तेयं शौचमिन्द्रियनिग्रहः। धीर्विद्या सत्यमक्रोधो, दशकं धर्मलक्षणम् ॥ (धृति (धैर्य), क्षमा (दूसरों के द्वारा किये गये अपराध को माफ कर देना, क्षमाशील होना), दम (अपनी वासनाओं पर …

Read More »

Saptrishi Name जानिये किस किस काल में हुए सप्तऋषि

सप्तर्षि या सात तारों का समूह। तुमने दादी अम्मा से इसके बारे में सुना भी होगा और रात में इन्हें आसमान में देखने का मौका भी मिला होगा। आसमान में अनगिनत तारे हैं, ये तो तुम जानते ही हो। इनके अलग-अलग नाम भी हैं, जो इनकी खूबियों को देखकर दिए गए हैं। इनमें सात ऋषियों के नाम से पहचाने जाने …

Read More »

The Hindu God Hanuman । हनुमान को अपने ही पुत्र से युद्ध क्योँ करना पड़ा जानें

The Hindu God Hanuman: पवनपुत्र हनुमानजी बाल ब्रह्मचारी थे तब कैसे कोई उनका पुत्र हो सकता है। वाल्मीकि रामायण के अनुसार उनके पुत्र की कथा हनुमानजी के लंका दहन से जुड़ी है।उस समय हनुमानजी सीता की खोज में लंका पहुंचे और मेघनाद द्वारा पकड़े जाने पर उन्हें रावण के दरबार में प्रस्तुत किया गया, तब रावण ने उनकी पूंछ में …

Read More »

Shani Dev Mantra In Hindi । जानें शनिदेव के प्रत्येक वाहन का क्या है मतलब

Shani Dev Mantra In Hindi: शास्त्रो मे शनि के नौ वाहन कहे गये है. शनि की साढेसाती के दौरान शनि जिस वाहन पर सवार होकर (Sadesati gives results according to Saturn’s ride) व्यक्ति की कुण्डली मे प्रवेश करते है. उसी के अनुरुप शनि व्यक्ति को इस अवधि मे फल देते है. वाहन जानने के लिए निम्न विधि से शनि साढ़ेसाती …

Read More »

How to Worship Lord Shiva । सोमवार को ही भगवान शिव की पूजा की जाती है क्योँ जानें

How to Worship Lord Shiva : सोमवार को भगवान शिव का दिन माना गया है। ऐसा कहा गया है कि भगवान शिव से आदर्श पति और कोई नहीं था, इसलिए कुवारी लड़कियां सोमवार का व्रत रखती हैं, कि उन्हें शिव जी तरह का पति मिले। भगवान भोलेनाथ की  दो रूपों में पूजा की जाती है मूर्ति रूप और शिवलिंग रूप में। …

Read More »

History of Rudraksha । जानें रुद्राक्ष कैसे उत्पन्न हुआ

History of Rudraksha: हिन्दू धर्मानुसार भगवान शिव को देव और दानव दोनों का देवता बताया गया है। भगवान शिव के शांत और प्रसन्न स्वभाव के कारण भोला तो प्रलयंकारी स्वभाव के कारण रुद कहा जाता है। भगवान शिव को जो चीजें बहेद प्रिय हैं उनमें शिवलिंग, बेलपत्र आदि के अतिरिक्त रुद्राक्ष (Rudraksha in Hindi) एक अहम वस्तु है। क्या हैं …

Read More »

Indian Ancestors Memorial Foundation । पूर्वजों का श्राद्ध क्योँ जरुरी होता है जानें

Indian Ancestors Memorial Foundation: श्राद्ध पक्ष का हिन्दू धर्म में बड़ा महत्व है। प्राचीन सनातन धर्म के अनुसार हमारे पूर्वज देवतुल्य हैं  और इस धरा पर हमने जीवन प्राप्त किया है और जिस प्रकार उन्होंने हमारा लालन-पालन कर हमें  कृतार्थ किया है उससे हम उनके ऋणी हैं। समर्पण और कृतज्ञता की इसी भावना से श्राद्ध पक्ष प्रेरित  है, जो जातक …

Read More »

ये थे वो तीन लोग जिन्होंने महाभारत में लिया था पुनर्जन्म

भारतीय इतिहास का महत्वपूर्ण ग्रंथ ‘महाभारत’ रहस्यों से भरा पड़ा है। इसके हजारों नायकों की अलग ही रोचक कहानियां हैं। सभी एक से बढ़कर एक वीर थे। इस ग्रंथ को जितनी बार पढ़ा जाए, कम है। इस पर बड़े पैमाने पर शोध किए जाने की जरूरत है। महाभारत युद्ध के दौरान भगवान कृष्ण अर्जुन से कहते हैं- हे कुंतीनंदन! तेरे …

Read More »

आज भी मौजूद है पांडवों का ‘लाक्षागृह’

लाक्षागृह क्या है। लाक्षागृह एक भवन था जिसे लाक्षा (लाख) से बनाया गया था। आजकल इसकी चूड़ियां बनती हैं। लाख एक प्राकृतिक राल है, बाकी सब राल कृत्रिम हैं। वैज्ञानिक भाषा में लाख को लैसिफर लाक्का (Laccifer lacca) कहा जाता है।  लक्ष एक प्रकार का कीट होता है। लाख कीट कुछ पेड़ों पर पनपता है, जो भारत, बर्मा, इंडोनेशिया तथा …

Read More »

महाभारत के युद्ध में जीवित बचे योद्धा

कुरुक्षेत्र में लड़ा गया महाभारत का युद्ध दुनिया का प्रथम विश्वयुद्ध था। इस युद्ध में संपूर्ण भारतवर्ष के राजाओं के अतिरिक्त बहुत से अन्य देशों के राजाओं ने भी भाग लिया और सब के सब वीरगति को प्राप्त हो गए। लाखों महिलाएं विधवा हो गईं। इस युद्ध के परिणामस्वरूप भारत से वैदिक धर्म, समाज, संस्कृति और सभ्यता का पतन हो …

Read More »